न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

विपक्ष के भारत बंद का रांची में मिलाजुला असर, झरिया में बंद समर्थक गिरफ्तार

रोज के मुकाबले कम है शहर में चहल-पहल

380

Ranchi/Dhanbad: राजधानी रांची में भारत बंद का अबतक मिलाजुला असर देखने को मिल रहा है. शहर के दुकानदारों ने स्वेच्छा से ही अपनी दुकानें बंद रखी हैं. हालांकि कुछ छोटी दुकानें खुली भी हैं. लेकिन शहर के सभी नामी प्रतिष्ठान बंद हैं. सड़कों पर लोगों का आवागमन अन्य दिनों की अपेक्षा कम लोग ही सड़क पर नजर आ रहे है.

इसे भी पढ़ेंःतेल की बढ़ी कीमतों पर कांग्रेस का भारत बंद, एकजुट विपक्ष का प्रदर्शन

पुलिस-प्रशासन मुस्तैद

hosp3
बंद को लेकर मुस्तैद पुलिस

भारत बंद को देखते हुए पुलिस प्रशासन ने पहले से ही तैयारी कर रखी थी. शहर के अधिकांश इलाकों में पुलिस की पहरेदारी है. पिस्का मोड, रातू रोड, हरमू चौक, कांके चौक, बिरसा चौक, कचहरी चोक, लालपुर आदि सभी चौक चौराहों पर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किये गए है. JAP, RAP, एंव जिला पुलिस की तैनाती की गयी है. पुलिस कर्मी लगातार सभी की गतिविधियों पर नजर रख रहे हैं. वही समय-समय पर वायरलैस के माध्यम से सभी एक दूसरे स्थान की जानकारी भी ले रहे है.

इसे भी पढ़े : बस किराये में 30 फीसदी की वृद्धि, 11 सितंबर से लागू होगा नया किराया, 10 को बंद रहेगा परिचालन : बस…

कई दुकानें रहीं बंद

इधर सिटी एसपी अमन कुमार ने सड़कों पर सुरक्षा का जाएगा लिया. अल्बर्ट एक्का चौक, रतन टॉकीज चौक, सुजाता चौक होते हुए डोरंडा सहित शहर के अन्य थाना में घूमकर बंद के वर्तमान हालात से अवगत हुए और अधिकारियों को कई दिशा-निर्देश दिये.

इसे भी पढ़ेंःधनबाद नगर निगम की दो करोड़ रुपये की जमीन पर दबंगों का कब्जा.. इसे खाली कौन कराएगा?

झरिया में कई बंद समर्थक गिरफ्तार

कांग्रेस समेत विपक्ष के भारत बंद का धनबाद के झरिया में असर देखने को मिला. विपक्षी दलों ने बंद को लेकर झरिया शहर में जुलूस निकाला और दुकानों को बंद कराया. साथ ही वाहनों के आवागमन को भी बाधित किया गया. इस दौरान जुलूस झरिया के सुदामडी, जोड़ापोखर भागा सहित झरिया शहर का भ्रमण किया.

हालांकि बंद को लेकर पुलिस-प्रशासन की भी चौकसी बढ़ी हुई है. वही झरिया में DSP सिंदरी के नेतृत्व में जुलूस में शामिल दर्जनों बंद समर्थकों को गिरफ्तार कर लिया गया और झरिया थाना लाया गया.

इसे भी पढ़ेंःडॉ. हेमंत नारायण सालाना 83 लाख रुपए की करते हैं टैक्स चोरी, IT ने सर्वे में सालाना एक करोड़ का टैक्स किया तय

इस दौरान बंद समर्थकों ने पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों और राफेल डील सहित कई मुद्दों पर मोदी सरकार को घेरते हुए केंद्र सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: