Fashion/Film/T.VNational

भंसाली ने सुशांत को ऑफर की थी चार फिल्में, इस वजह से नहीं कर पाये साथ काम

Mumbai:  एक्टर सुशांत सिंह राजपूत की मौत केस की मुंबई पुलिस गंभीरता से जांच कर रही है. इसी कड़ी में सोमवार को फिल्ममेकर संजय लीला भंसाली से बांद्रा पुलिस ने तीन घंटे पूछताछ की थी. जहां सुशांत को ऑफर की गयी फिल्मों के बारे में सवाल-जवाब हुए.

मुंबई पुलिस ने मंगलवार को कहा कि बॉलीवुड निर्देशक संजय लीला भंसाली दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत  के साथ चार फिल्मों में काम करने वाले थे. लेकिन सुशांत के पास समय नहीं होने की वजह से भंसाली को फिल्म में दूसरे अभिनेताओं को लेना पड़ा.

इसे भी पढ़ेंःदंतेवाड़ा में नक्सलियों की कायराना हरकतः पुलिस कर्मी के माता-पिता का किया अपहरण

सुशांत के पास डेट्स नहीं थे

बता दें कि एक्टर सुशांत ने उपनगरीय बांद्रा स्थित अपने घर पर 14 जून को फांसी लगाकर कथित तौर पर आत्महत्या कर ली थी. बांद्रा पुलिस इस मामले में प्रोफेशनल प्रतिद्वंद्विता के आधार पर मामले की जांच कर रही है और इसी सिलसिले में सोमवार को पुलिस ने भंसाली से पूछताछ की.

मामले की जांच कर रहे पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि पूछताछ के दौरान पता चला कि राजपूत के पास डेट्स नहीं होने की वजह से वो भंसाली के साथ काम नहीं कर पाए. पुलिस यह पता लगाने की कोशिश कर रही है कि राजपूत क्यों भंसाली के साथ काम नहीं कर पाए.

अन्य ‘प्रोडक्शन हाउस’ के साथ उनके कॉन्ट्रैक्ट की भी जांच की जा रही है. अधिकारी ने कहा कि मामले से जुड़ी हर जरूरी जानकारियों की जांच की जा रही है. पुलिस अभी तक सुशांत के परिवार, दोस्तों और सहकर्मियों सहित 34 लोगों के बयान दर्ज कर चुकी है.

इसे भी पढ़ेंःझारखंड में कोरोना से 21 वीं मौत, रिम्स के कोविड वार्ड में था इलाजरत

हर पहलू को खंगाल रही पुलिस

पुलिस अधिकारी ने कहा कि सुशांत सिंह राजपूत के ट्विटर अकाउंट से कथित तौर पर पोस्ट किए गए ट्वीट, जो उनकी आत्महत्या करने से ठीक पहले सोशल मीडिया पर वायरल हो गए थे, उनके संबंध में ट्विटर के जवाब का इंतजार किया जा रहा है.

उन्होंने बताया कि उनकी इमारत में लगे सीसीटीवी के फुटेज भी जांच के लिए ले लिए गए है. उनके घर में कोई सीसीटीवी नहीं लगा था. पुलिस ने सुशांत के शव से विसरा (आंत) को भी जांच के लिए भेजा था. ताकि ये पता चल सके कि उन्हें किसी तरह से जहर तो नहीं दिया गया था.

कथित आत्महत्या में उनके द्वारा इस्तेमाल किए गए कपड़े को भी जांच के लिए उपनगरीय कलीना स्थित फॉरेंसिक विज्ञान प्रयोगशाला (एफएसएल) में रासायनिक और फॉरेंसिक विश्लेषण के लिए भेजा गया था. अधिकारी ने बताया कि फॉरेंसिक रिपोर्ट आनी अभी बाकी है. इन रिपोर्ट्स के आने से जांच में काफी मदद मिलेगी. कपड़ों की जांच से ये पता चल पायेगा कि क्या वो सुशांत का भार उठाने के लिए सक्षम थे. साथ ही कपड़ो पर फिंगर प्रिंट्स की जांच की जायेगी.

इसे भी पढ़ेंःझारखंड में दुष्कर्म और लूट के मामले बढ़े, हत्या और किडनैपिंग के मामले में आयी कमी

Advertisement

Related Articles

Back to top button
Close