Lead NewsNational

भगवंत मान होंगे पंजाब में आप का सीएम कैंडिडेट

Chandigarh: आम आदमी पार्टी ने पंजाब विधानसभा चुनाव में भगवंत मान को मुख्यमंत्री कैंडिडेट घोषित किया. भगवंत मान अभी संगरूर से सांसद हैं. आम आदमी पार्टी के संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने मोहाली में इसका ऐलान किया. आप ने CM कैंडिडेट चुनने के लिए मोबाइल नंबर जारी करके जनता की राय मांगी थी. 3 दिन में 21.59 लाख लोगों ने राय दी. करीब 15 लाख लोगों ने भगवंत मान का नाम लिया है. केजरीवाल ने इस रिजल्ट के साथ ही भगवंत मान के नाम का ऐलान कर दिया. अरविंद केजरीवाल ने पहले ही कहा था कि वह पंजाब में CM की दौड़ में नहीं हैं. पंजाब का CM चेहरा सिख समाज से होगा.

2017 में आप को इसी वजह से बड़ा झटका लगा था कि CM फेस सिख समाज से नहीं था. विरोधियों ने कहा कि बाहर से आकर कोई मुख्यमंत्री बन सकता है, जिससे पंजाबी आप से दूर होते चले गए. हालांकि कई ने अरविंद केजरीवाल और कुंवर विजय प्रताप सिंह को मुख्यमंत्री चेहरा बनाने के लिए अपनी राय दी, परंतु सबसे ज्यादा लोग भगवंत मान के पक्ष में हैं. नेता प्रतिपक्ष हरपाल चीमा ने कहा कि आम आदमी पार्टी पहली ऐसी पार्टी है जो इतना बड़ा फैसला लेने से पहले लोगों के बीच गई है.

इसे भी पढ़ेंः बिहार में शीतलहर, कनकनी और कोहरे ने बढ़ाई परेशानी, हार्ट से संबंधित बीमारी वाले लोग विशेष सतर्कता बरतें

उल्लेखनीय है कि भगवंत मान इस समय संगरूर से सांसद हैं और अपने लोकसभा क्षेत्र के विधानसभा हलका धूरी से चुनाव मैदान में उतरने की तैयारी में हैं. पार्टी के कई ऐसे विधायक जो मान से नाराज भी हैं, उनका कहना है कि अगर पार्टी भगवंत मान को मुख्यमंत्री पद का चेहरा नहीं बनाएगी तो इससे पार्टी का नुकसान होगा. भगवंत ने ही सभी सीटों पर जा जाकर लोगों को पार्टी के लिए संगठित किया है. उनका कहना है कि अगर हमारा माझा और दोआबा में आधार बढ़ रहा है, मालवा में हमने अपनी लोकप्रियता कायम रखी हुई है तो वह सब भगवंत मान के कारण ही है. पार्टी अगर भगवंत मान को मुख्यमंत्री का चेहरा बनाती है तो आप को मालवा क्षेत्र में काफी लाभ मिल सकता है. पिछले चुनाव में भी पार्टी को यहीं से बड़ी सफलता मिली थी.

प्रचार अब भी केजरीवाल के चेहरे पर

पंजाब में आप का प्रचार अभी भी अरविंद केजरीवाल के चेहरे पर हो रहा है. आप केजरीवाल के नाम पर पंजाब में एक मौका मांग रही है. आप ने एक पोस्टर भी जारी किया है, जिसमें भ्रष्टाचार, कमजोर सरकारी स्कूल, खराब अस्पताल, महंगे बिजली-पानी बिल और बेरोजगारी का एक ही सॉल्यूशन केजरीवाल को बताया गया है.

इसे भी पढ़ेंः सिमडेगा को 30 दिनों में मिलेगा मेगा स्पोर्ट्स कॉम्पलेक्स का तोहफा

Advt

Related Articles

Back to top button