Bokaro

#Bermo: DVC के ऐश पौंड से राख की ट्रांसपोर्टिंग की ठप, विस्थापितों का आंदोलन 19 वें दिन भी जारी

विज्ञापन

Bermo: बेरमो अनुमंडल के बोकारो थर्मल स्थित डीवीसी पावर प्लांट गेट के पास विस्थापितों का धरना 19वें दिन भी जारी है. 27 जनवरी से चल रहे प्रदर्शन में विस्थापित एवं स्थानीय समन्वय समिति के आंदोलनकारियों ने शुक्रवार को पूर्व घोषित कार्यक्रम के तहत नूरी नगर स्थित डीवीसी के ऐश पौंड से राख की ट्रांसपोर्टिंग सुबह से पूरी तरह से ठप कर दी.

आंदोलनकारियों का नेतृत्व समिति के अध्यक्ष दिनेश्वर मंडल एवं जीतेंद्र यादव कर रहे थे. आंदोलन को आजसू का समर्थन प्राप्त है. अध्यक्ष ने कहा कि मांगों को लेकर विस्थापितों का आंदोलन 27 जनवरी से जारी है.

advt

इसे भी पढ़ेंःपुलवामा के शहीद विजय सोरेंग को रघुवर ने ठगा, CCL-BCCL फैमली मैटर की वजह से नहीं कर पा रही मदद

वहीं डीवीसी प्रबंधन के द्वारा विगत अक्टूबर 2019 में 14 विस्थापितों को नियोजन देने संबंधी लिखित आश्वासन देने के बाद भी इस पर अमल नहीं किया गया. पांच माह बाद भी इस मांग को पूरा नहीं करना विस्थापितों के प्रति उपेक्षा को दर्शाता है.

राख की ट्रांसपोर्टिंग अनिश्चितकाल के लिए ठप

प्रदर्शनकारियों ने कहा कि पूर्व घोषित आंदोलन के क्रम में ही शुक्रवार को डीवीसी के ऐश पौंड से राख की ट्रांसपोर्टिंग अनिशिचतकाल के लिए ठप की गयी है. प्रबंधन इसके बाद भी मांगों को लेकर गंभीर नहीं होता है तो पावर प्लांट को आने वाली कोयला की ट्रांसपोर्टिंग ठप की जाएगी.

adv

इसे भी पढ़ेंःमंत्री आलमगीर आलम ने की कॉन्ट्रैक्टर्स से मुलाकात,कहा- 24 फरवरी से होने लगेगा ठेकदारों को भुगतान

साथ ही पावर प्लांट में काम करनेवाले इंजीनियरों एवं अधिकरियों के आवासों की पानी एवं बिजली को भी काटने का काम किया जाएगा. डीवीसी प्रबंधन की ओर से आंदोलनकारियों से बातचीत की भी पेशकश की गयी है. लेकिन आंदोलनकारी प्रबंधन के द्वारा पूर्व लिखित 14 लोगों को नियोजन देने को लेकर गेट पास बनाने की ही शर्त पर वार्ता करने को तैयार है. फिलहाल ऐश पौंड से राख ट्रांसपोर्टिंग का काम ठप है.

मौके पर विस्थापित नेता तिलक महतो,रंजीत तुरी,राजेंद्र महतो,सूरत प्रसाद,रवि तुरी,असगर अली,छत्रधारी गोप,राजेन्द्र भाई पटेल,मोहम्मद मिन्हाज आलम,मुबारक अंसारी,शंभू रविदास,गफूर अंसारी,जगदीश यादव,विशेश्वर राम,सुल्तान अंसारी,आरिफ अंसारी,कुर्बान अंसारी,अमृत गोप आदि लोग उपस्थित थे.

इसे भी पढ़ेंःतो क्या सरकार और NIOS के बदलते नियमों के कारण अप्रशिक्षित रह गये 4500 पारा शिक्षक

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
Close