West Bengal

Bengal: पंडालों में सांस्कृतिक कार्यक्रमों के आयोजन की अनुमति नहीं

  • पूजा आयोजकों को ममता का निर्देश : खुला रखें पंडाल

Kolkata:  मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने दुर्गा पूजा के आयोजकों को गुरुवार को विशेष निर्देश दिया है. राज्य सचिवालय नवान्न में मीडिया से मुखातिब मुख्यमंत्री ने कहा कि जिस तरह से पूरे देश में महामारी बढ़ रही है उसे देखते हुए जरूरी है कि संक्रमण से बचाव के लिए दुर्गा पूजा पंडालों को खुला रखा जाए. इस दौरान उन्होंने चार अत्याधुनिक अग्निशमन रोबोट का उद्घाटन भी किया. इस्लामिया अस्पताल में बुनियादी ढांचे के निर्माण के लिए मुख्यमंत्री ने तीन करोड़ 75 लाख रुपये दिए.

ममता ने कहा कि किसी भी कीमत पर भीड़ से बचना चाहिए. लोगों को और जागरूक करने की जरूरत है. बैठकें, जुलूस नहीं होनी चाहिए. कोई त्योहार ठीक से नहीं मनाया गया. कई त्योहार बीत गए. बिना नाम लिए भाजपा पर हमला बोलते हुए उन्होंने कहा कि कई लोग दंगे का कारण बनना चाहते हैं. यह बंगाली सौहार्द की मिट्टी है. 34748 आवासीय पूजा को छोड़कर कलकत्ता में 2509 पूजा पंडाल में होती है. मंडप को खुला बनाएं. यदि आप साइड को कवर करना चाहते हैं, तो छत को खुला रखें. छत को ढंकते हैं तो, बाहर को खुला रखें. ताकि संक्रमण बाहर निकल सके. उसके लिए शारीरिक दूरी बनाए रखने की व्यवस्था करें. हैंड सैनिटाइजर दें, मास्क पहनें. क्लब के अधिकारियों, स्वयंसेवकों को मास्क पहनना चाहिए. अधिक स्वयंसेवक होने चाहिए. घाटों को पवित्र रखा जाना चाहिए. अच्छी रोशनी की व्यवस्था करने की आवश्यकता है. सभी विभागों को समन्वय में काम करना होगा.

इसे भी पढ़ें – प्रोन्नति और सीधी नियुक्ति के माध्यम से मिडिल स्कूलों में तीन हजार प्रिंसिपल्स की होगी नियुक्ति

advt

उन्होंने कहा कि पूजा की मंजूरी अब ऑनलाइन होगी.  2 अक्टूबर से पंजीकरण शुरू होगा. कोरोना वॉरियर्स को श्रद्धांजलि देते हुए ममता ने कहा कि कई लोग कोरोना से अपनी जान गंवा चुके हैं. आनंद में निरानंद का निर्माण हुआ है. मन अच्छा नहीं है. एक पुलिस अधिकारी की आज मौत हो गई. 87 फीसदी लोग स्वस्थ हो रहे हैं.

मुख्यमंत्री ने यह भी बताया कि पूर्व घोषित योजना के मुताबिक पश्चिम बंगाल के हिंदू पुरोहितों को दो महीने का भत्ता अग्रिम तौर पर दे दिया गया है. उन्होंने दावा किया कि इससे गरीब पुरोहितों को काफी मदद मिलेगी.

adv

उल्लेखनीय है कि विधानसभा चुनावों से पहले मुख्यमंत्री ने घोषणा की है कि हिंदू पुरोहितों को भत्ता दिया जाएगा. विपक्ष ने आरोप लगाया था कि हिंदू विरोधी छवि से निकालने के लिए ही ममता ने यह चुनावी घोषणा की है.

इसे भी पढ़ें – Palamu : बिहार बार्डर पर बड़ी कार्रवाई, मुखिया के भूसा गोदाम से सैकड़ों पेटी शराब, एफसीआइ का चावल बरामद

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: