West Bengal

बंगाल सरकार ने जारी किया एसओपी, कोरोना मृतकों को अंतिम विदाई दे सकेंगे परिजन

विज्ञापन

Kolkata: कोरोना महामारी से मरने वालों के अंतिम संस्कार में गोपनीयता बरतने के लग रहे आरोपों के बीच पश्चिम बंगाल सरकार ने शनिवार को मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) जारी की है. इसमें मृतकों के अंतिम संस्कार को लेकर कई महत्त्वपूर्ण दिशा-निर्देश दिये गये हैं.

राज्य सरकार ने आदेश दिया है कि अस्पताल में कोरोना रोगियों की मौत के एक घंटे के अंदर परिजनों को सूचना देनी होगी. इसके अलावा मृतक व्यक्ति के शव को बॉडी कवर में रखना होगा जिसमें चेहरे का हिस्सा पारदर्शी होना चाहिए.

शव को जिस बॉडी कवर से ढंका जायेगा वह इलाज के दौरान इस्तेमाल नहीं हुआ होना चाहिए. इसके अलावा मृतक शरीर को आधे घंटे के लिए ऐसी जगह पर रखना होगा जहां परिवार के सदस्य अंतिम विदाई दे सकें.

इसे भी पढ़ें – नक्सल गतिविधियों पर नजर रखने के लिए स्पेशल ब्रांच 5 जिला मुख्यालयों व 5 अनुमंडल मुख्यालयों में खोलेगी ऑफिस

अस्पताल से मिलेंगे परिजनों को ग्लव्स और मास्क

मृतक के परिजनों को मास्क और ग्लव्स अस्पताल की ओर से दिया जायेगा, जिसे पूरी तरह से सैनिटाइज करना होगा.

हालांकि इसके बाद विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के नियमानुसार अस्पताल प्रबंधन की ओर से शव का अंतिम संस्कार नगर निगम के साथ मिलकर किया जायेगा.

दरअसल डब्ल्यूएचओ ने दिशा-निर्देश जारी किया है जिसमें कहा गया है कि कोरोना से मरने वालों के शव को परिजनों को नहीं सौंपा जायेगा और उसे कोई भी छू नहीं सकेगा. शव को कवर में रखना होगा और विद्युत चूल्हा पर तुरंत जला देना होगा. हालांकि जलाने के बाद मृतक व्यक्ति की राख को परिजनों को दिया जा सकता है.

पहले आरोप लगते थे कि कोरोना से मरने वालों का अंतिम संस्कार राज्य सरकार चोरी-छिपे कर देती है और परिजनों को कई दिनों तक खबर नहीं लगती. इसे लेकर डॉक्टरों के संगठन ने राज्य स्वास्थ्य विभाग को एक चिट्ठी लिखी थी और कोरोना से मरने वालों के परिजनों को अंतिम संस्कार में शामिल होने का मौका देने की सिफारिश की थी, जिसे राज्य स्वास्थ्य विभाग ने स्वीकार कर लिया है.

इसे भी पढ़ें –Palamu: कोरोना काल में क्रिकेट मैच का आयोजन, हजारों दर्शक जुटे, पुलिस पहुंची तो सब भागे

 

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
Close