ELECTION SPECIALLead NewsNational

बंगाल चुनाव :  दीदी के खास रहे दिनेश त्रिवेदी ने थामा भाजपा का दामन, अब दादा और मिथुन पर निगाहें

इससे पहले मुकुल रॉय, शुभेंदु अधिकारी सहित कई नेता शामिल हो चुके हैं भाजपा में

Kolkata : भारतीय जनता पार्टी के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष जेपी नड्डा (JP Nadda) की मौजूदगी में आज (शनिवार) पश्चिम बंगाल के दिग्गज नेता पूर्व रेल मंत्री दिनेश त्रिवेदी बीजेपी (BJP) में शामिल हो गये. दिनेश त्रिवेदी (Dinesh Trivedi) टीएमसी प्रमुख ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) के बेहद कीरीबी नेता रहे हैं. त्रिवेदी कांग्रेस की मनमोहन सिंह सरकार में रेल मंत्री रह चुके हैं.

इससे पहले, दिनेश त्रिवेदी (Dinesh Trivedi) ने विवेकानंद का कथन और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) की तारीफ करते हुए बजट सत्र के आखिरी दिन राज्य सभा से इस्तीफा दे दिया था. तबसे ही उनके बीजेपी (BJP) में शामिल होने के कयास लगाए जा रहे थे. पश्चिम बंगाल चुनावों (West Bengal Election 2021) के दौरान दिनेश त्रिवेदी का भाजपा में शामिल होना बड़ा राजनीतिक घटनाक्रम है. इससे पहले मुकुल रॉय, शुभेंदु अधिकारी जैसे कई दिग्गज टीएमसी नेता बीजेपी में शामिल हो चुके हैं. लगातार TMC से दिग्गज नेताओं का मोह भंग होना ममता बनर्जी की चिंता बढ़ा सकता है.

इसे भी पढ़ें :राज्य के 136 बीएड कॉलेजों में चार हजार सीटें खाली, कल से तीसरे राउंड की काउंसलिंग

जेपी नड्डा ने किया स्वागत

दिनेश त्रिवेदी का बीजेपी में स्वागत करते हुए भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कहा, ‘त्रिवेदी जी ने वैचारिक यात्रा में सत्ता को दरकिनार करते हुए वैचारिक लड़ाई लड़ी है. बीजेपी में ये ताकत है कि सभी विचारशील लोगों का बीजेपी में समावेश करके देश सेवा में लगा सकती है.’ नड्डा ने आगे कहा, ‘दिनेश त्रिवेदी ने राज्य सभा की सीट छोड़ कर वैचारिक कारणों से बीजेपी ज्वॉइन की है. दिनेश जी ने 2 महीने पहले कहा था कि मैं देश की सेवा करना चाहता हूं. अब वे पश्चिम बंगाल में सेवा करेंगे और चुनाव में भी सक्रिय भागीदारी रहेगी.’

इसे भी पढ़ें :विदाई की बेला में दुल्हन इतना रोई की आ गया हार्ट अटैक, जानिये आगे क्या हुआ

कुछ पार्टियों में केवल एक ही परिवार की सेवा

इस दौरान दिनेश त्रिवेदी ने कहा, आज वो पल है जिसका मुझे इंतजार था. मैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी और पूरे बीजेपी परिवार का धन्यवाद करता हूं. ममता पर लग रहे भाई-भतीजावाद के आरोपों की तरफ इशारा करते हुए दिनेश त्रिवेदी ने कहा, कुछ पार्टियां पॉलिटिकल परिवार हैं और कुछ जनता का परिवार हैं. दूसरी पार्टी में परिवार की सेवा होती है लेकिन मेरे लिए देश सर्वोपरि रहा है. त्रिवेदी ने कहा, उस पार्टी का नाम नहीं लूंगा जहां परिवार की सेवा होती है.

बता दें, शुक्रवार को ही ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ने पश्चिम बंगाल में अपने 291 उम्मीदवारों की सूची जारी की है. इस लिस्ट में ममता बनर्जी का भी नाम है. इस बार ममता ने नंदीग्राम सीट से लड़ने का ऐलान किया है. TMC से BJP में आए शुभेंदु अधिकारी यहां ममता को चुनौती दे सकते हैं. इन हालातों में टीएमसी की स्थापना के दौर के बाद से ही ममता के साथ रहे दिनेश त्रिवेदी का बीजेपी जाना TMC का बड़ा नुकसान साबित हो सकता है.

इसे भी पढ़ें :IND vs ENG: अश्विन और अक्षर की फिरकी में फंसा इंग्लैंड, भारत को मिला WTC का टिकट

मिथुन और सौरव को भी लाने का प्रयास

बंगाल चुनाव से पहले बीजेपी में नेताओं के शामिल होने का सिलसिला जारी है. इस कड़ी में सबसे बड़ा नाम मिथुन चक्रवर्ती (Mithun Chakraborty) का भी आ रहा है. अटकलें लगाई जा रही हैं कि मिथुन 7 मार्च को पीएम मोदी की मौजूदी में बीजेपी (BJP) में शामिल हो सकते हैं. इसके अलावा सौरव गांगुली के बीजेपी में शामिल होने की चर्चा जोरों पर है.

इसे भी पढ़ें :मानो या ना मानो ट्विटर के सीईओ अरबपति जैक डोरसी के पहले ट्वीट की बोली पहुंची 2 करोड़ रुपये

 

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: