Main SliderRanchi

बेलोसा बबिता कच्छप को गुजरात ATS ने किया गिरफ्तार,  संविधान की गलत व्याख्या कर आदिवासियों को भड़काने का आरोप

Ranchi/Khunti :  झारखंड में वांछित और राज्य सरकार के खिलाफ गुजरात में आदिवासियों को भड़काने की कोशिश कर रहे तीन कथित नक्सलियों को गुजरात आतंकवाद निरोधक दस्ता (एटीएस) ने 24 जुलाई को गिरफ्तार किया. गिरफ्तार किए गए लोगों की पहचान झारखंड के सामू ओड़िया, बिरसा ओड़िया और बेलोसा बबिता कच्छप के रूप में की गई है.

प्राप्त जानकारी के अनुसार सामू ओड़िया पर दो, बिरसा ओड़या पर 10 के करीब और बेलोसा बबिता पर सात केस खूंटी जिले में दर्ज हैं.  मीडिया रिपोर्ट के अनुसार इनकी गिरफ्तारी 24 जुलाई को हुई. सामू और बिरसा ओड़िया को आदिवासी बहुल तापी जिले के व्यारा तालुका से गिरफ्तार किया गया है. जबकि बबिता को महिसागर जिले के संतरामपुर तालुका से गिरफ्तार किया गया.

मीडिया रिपोर्ट में एटीएस के हवाले से कहा गया है कि यह झारखंड में पत्थलगड़ी आंदोलन के सक्रिय सदस्य थे. जिन्होंने सरकार के खिलाफ स्थानीय लोगों को उकसाया था. दावा किया जा रहा है कि ये लोग राज्य सरकार के खिलाफ सतीपति आदिवासी समुदाय के सदस्यों को उकसाने की कोशिश कर रहे थे. उनके कब्जे से माओवादी साहित्य जब्त किया गया था.

advt

गौरतलब है कि ये संगठन खुद को भारत सरकार कहता है और ये पूरा संगठन गुजरात से जुड़ा हुआ है. बबिता और बिरसा झारखंड के खूंटी जिला में कई मामलों में वांछित थे. तीनों पर आईपीसी की धारा 124-ए (सेडिशन) और 120 बी (आपराधिक षड्यंत्र) के तहत मामला दर्ज किया गया है.

इसे भी पढ़ेंः CM को कोरोना, भोपाल से लेकर लखनऊ तक हड़कंप, शिवराज के 12 मंत्री क्वारंटीन

झारखंड के मुंडा अंचल में सक्रिय है संगठन

जानकार कहते हैं सतीपति वाले खूंटी में मुंडा समाज को बांटने और विद्वेष फैलाने का काम कर रहे हैं. जब खूंटी में 2014 के बाद ग्रामसभा के अधिकार के लिए पेसा कानून लागू करने की मांग एवं लैंड बैंक और सीएनटी-एसपीटी एक्ट के संशोधन के विरोध में अंदोलन हुए तब एसी भारत सरकार कुटुंब परिवार कहीं नजर नहीं आया. सीएनटी संशोधन के विरोध में खूंटी में हुए आंदोलन में एक-दो गांवों में पत्थलगड़ी की गई थी. जिसमें विवादित पत्थलगड़ी की बात नहीं लिखी गयी थी.

जानकार कहते हैं कि इसी का लाभ उठा कर गुजरात से जुड़े संगठन ने झारखंड में पत्थलगड़ी के नाम पर प्रशासन और आदिवासी समाज के बीच टकराव की स्थिति पैदा करा दी. संगठन ने मुंडा समाज में विरोध के स्वर को अलगावाद में बदल देने का काम किया.

adv

जिसे राजनीतिक लाभ के लिए ईसाई मिशनरियों की सजिश बताकर प्रचारित किया गया. जानकार कहते हैं कि खूंटी में पत्थलगड़ी शुरू होने के कुछ दिनों पहले ही झारखंड से कुछ लोग गुजरात गये. और प्रशिक्षित होकर लौटे. जिसमें बेलोसा बबिता, यूसुफ पूर्ति, विजय कुजूर जैसे पत्थलगड़ी के स्वंयभू नेता शामिल हुए थे.

इसे भी पढ़ेंः केरल, कर्नाटक में ‘काफी संख्या’ में ISIS आतंकवादी मौजूद: संरा रिपोर्ट

बेलोसा बबिता, यूसुफ पूर्ति, विजय कुजूर ने गुजरात जाकर लिया था प्रशिक्षण

सफेद कपड़े में बिरसाईत के अलावा भी खूंटी में कुछ लोग नजर आने लगे हैं. इन लोगों को कुंवर केसरी सिंह के संगठन से जुड़ा हुआ बताया जा रहा है. संगठन और पार्टी में शामिल कुछ नेताओं का कहना है कि उन्होंने ये सिद्धांत गुजरात के सतीपति आश्रम से प्राप्त किया है. इसके बाद झारखंड के मुंडा अंचल में इनकी गतिविधियां बढ़ीं.

संविधान की गलत व्याख्या कर स्थानीय लोगों को भ्रमित करने का काम किया. इनके संगठन के द्वारा चुनाव में भागीदारी न करने और आदिवासियों को वोट बहिष्कार करने की बात की जाती है. राशन कार्ड और आधार कार्ड को खत्म करने के लिए आदिवासियों को प्रेरित करते हैं. जानकार कहते हैं खूंटी जिला में संगठन की गतिविधियों के कारण 5000 से अधिक वोटर कार्ड, राशन कार्ड, आधार कार्ड राजभवन भेजे जाने की सूचना है.

खूंटी जिला के मुरहू में तीन दिन विश्व शंति के नाम पर सम्मेलन किया गया. सम्मेलन 14 से 16 अक्टूबर 2019 के बीच मुरहू प्रखंड के गुंटीगड़ा जंगल हुआ था. जिसमें आधार कार्ड, वोट और चुनाव से दूर रहने की सीख दी गयी. चुनाव के बाद भी संगठन की सक्रियता खूंटी और पश्चिम सिंहभूम जिले में सक्रिय है.

बुरुगुलिकेरा हत्याकांड में सतिपति पंथ का नाम आया था

आदिवासी अधिकार मंच ने बुरुगुलिकेरा नंरसहार के बाद कहा था कि सतिपति पंथ के विरोध के कारण झारखंड के पश्चिमी सिंहभूम जिले के गुदरी ब्लाक अंतर्गत बुरुगुलिकेरा गांव में सात लोगों की पीट-पीटकर हत्या और सर कलम करने की दिल दहला देने वाली घटना सामने आई थी.

22-23 जनवरी को इस घटना की खबरें मीडिया में आने के बाद झारखंड में चल रहे पत्थलगड़ी आंदोलन की वजह माना जा रहा था. इस घटना में पत्थलगड़ी की भूमिका होने के आरोपों पर जांच के लिए सामाजिक कार्यकर्ता, लेखक और पत्रकारों के एक दल ने बुरुगुलिकेरा का दौरा किया. दल के वापस लौटने के बाद आदिवासी अधिकार मंच ने दावा किया कि इस जघन्य हत्याकांड के पीछे पत्थलगड़ी नहीं, सतिपति पंथ का बढ़ता प्रभाव है.

संगठन ने क्या कहा आदिवासी समुदाय से

इस दल ने बताया था कि गांव की आधे से अधिक आबादी सतिपति पंथ की समर्थक है. जेम्स बुढ़ और गांव के छह अन्य लोगों की हत्या का आरोप भी सतिपति पंथ का नेतृत्व करने वाले गांव के रणसी बुढ़ और अन्य पर है. गांव में पिछले एक साल से सक्रिय इस पंथ ने लोगों को अपना राशन कार्ड, आधार कार्ड, वोटर कार्ड जमा करने और सरकारी योजनाओं से दूरी बनाने को कहा गया था. आदिवासी अधिकार मंच ने अपनी रिपोर्ट में दावा किया था कि गांव के आधे से अधिक परिवारों ने दस्तावेज जमा किये.

लेकिन जेम्स और कई अन्य ने ऐसा नहीं किया. जेम्स गांव के उप मुखिया थे और उन्होंने दस्तावेज जमीन के कागजात आदि जमा कराने का विरोध किया. साथ ही लोगों के चर्च में जाने और आदिवासी त्योहार नहीं मनाने को कहने का भी विरोध किया. प्राप्त जानकारी के अनुसार सामू ओड़िया पर दो, बिरसा ओड़या पर 10 के करीब और बेलोसा बबिता पर सात केस खूंटी जिले में दर्ज हैं.

इसे भी पढ़ेंः ZEE एंटरटेनमेंट को 766 करोड़ का नुकसान, कहा- Lockdown ने घाटे को और बढ़ा दिया

advt
Advertisement

7 Comments

  1. Darts are constructed of precision profile barrels along with exclusive arrowhead flights.
    One of the regulars hit a nine dart finish
    against him, discuss playing the board. These shafts works well for
    many players and soon you start consistently throwing tight groups and breaking lots of shafts.

  2. Hey There. I found your blog the use of msn. This is a very smartly written article.
    I’ll make sure to bookmark it and come back to learn more of your useful info.

    Thanks for the post. I’ll certainly comeback.

  3. fantastic put up, very informative. I wonder why the
    other experts of this sector do not understand this. You should continue your writing.
    I am sure, you have a huge readers’ base already!

  4. Hey there! I could have sworn I’ve been to this blog before but after checking through some of the
    post I realized it’s new to me. Nonetheless, I’m definitely happy I found it and I’ll be bookmarking
    and checking back frequently!

  5. Thanks for one’s marvelous posting! I quite enjoyed reading it, you will be a great author.
    I will ensure that I bookmark your blog and will come back sometime soon. I want to encourage you to continue your great
    writing, have a nice holiday weekend! adreamoftrains best web hosting company

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button