न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

बेहाल हुआ आरयू का परीक्षा विभाग, परीक्षा नियंत्रक बदलने के बाद भी कम नहीं हुई छात्रों की समस्या

150

Ranchi : रांची विश्वविद्यालय (आरयू) में इन दिनों छात्रों को अजीबोगरीब समस्या का सामना करना पड़ रहा है. कभी छात्रों से परीक्षा में आउट ऑफ सिलेबस सवाल पूछे जा रहे हैं, तो कभी छात्रों को परीक्षा देने के बाद भी परीक्षाफल में उनके अंक नहीं जोड़े जा रहे हैं. रांची विवि में यह समस्या नई नहीं है, यह काफी सालों से चला आ रहा है. रांची विवि का परीक्षा विभाग पूरी तरह से फेलियोर साबित होता दिख रहा है. छात्रों की समस्या दिन पर दिन बढ़ती ही जा रही हैं और रांची विवि प्रशासन कार्रवाई के नाम पर अधिकारियों को बदल देता है. लेकिन छात्रों की समस्या जस की तस रह जाती है.

इसे भी पढ़ें : नैक ग्रेडिंग वाला झारखंड का पहला निजी विवि बना जेआरयू

छात्र आज भी परीक्षा विभाग के चक्कर लगा रहें 

छात्र कभी डिग्री के लिए तो कभी नंबर बढ़ाने और परीक्षा समय पर करवाने के लिए रांची विवि के परीक्षा विभाग का चक्कर हर दिन लगाते रहते हैं. रांची विश्वविद्यालय का परीक्षा विभाग छात्रों की समस्याओं को लेकर कान में तेल डाल कर सो गया है. रांची विश्वविद्यालय ने परीक्षा विभाग में अनियमितता के बरतने के संबंध में परीक्षा नियंत्रक डॉ एके झा को उनके कार्य भार से मुक्त कर दिया था इसके बदले में नए परीक्षा नियंत्रक राजेश कुमार उपाध्याय को परीक्षा विभाग की जिम्मेवारी सौंपी गई. राजेश कुमार उपाध्याय ने बतौर परीक्षा नियंत्रक रांची विश्वविद्यालय में कार्यभार संभाला लेकिन परिस्थितियां जस की तस रह गई.

छात्र आज भी परीक्षा विभाग के चक्कर अपनी समस्याओं को लेकर लगा रहे हैं. सोमवार को विवि‍ खुलते ही छात्रों का आक्रोश देखने को मिला. पीजी भूगोल,अंग्रजी,भौतिकी एवं बंग्ला विभाग के कई छात्रों के परीक्षाफल में काफी सारी त्रुटियां थीं इसको लेकर छात्रों ने विवि कैंपस में जमकर प्रदर्शन किया. परीक्षा नियंत्रक के खिलाफ नारे भी लगाए कई छात्रों ने अपने परीक्षाफल को लेकर कुलपति से भी वार्ता की कुलपति ने छात्रों को पुराने अंदाज में आश्वासन दिया कि शीघ्र ही छात्रों की समस्याओं पर विचार कर उसे समाधान कर लिया जाएगा.

silk_park

इसे भी पढ़ें : CM का विभाग : 441.22 करोड़ का घोटाला, अफसरों ने गटका अचार और पत्तों का भी पैसा

क्या है पूरा मामला

रांची विवि में हाल में ही पीजी सेमेस्टर 3 का रिजल्ट निकला है. परीक्षाफल में इतनी त्रुटियां है कि छात्र उसको लेकर काफी आक्रोशित हैं. पीजी अंग्रेजी विभाग के सेमेस्टर 3 में 42 बच्चों को उनके अंक सही से नहीं जुड़ने के कारण उन्हें फेल कर दिया गया है. वहीं पीजी भूगोल में 16 और पीजी बंगला में 20 छात्रों को को उनके अंक सही से नहीं जुड़ने के कारण उन्हें फेल कर दिया गया. पीजी बंगला के छात्रों ने रांची विवि प्रशासन पर आरोप लगाया कि परीक्षा के दौरान छात्रों से आउट ऑफ सिलेबस सवाल पूछे गए. उस दौरान हंगामा करने पर परीक्षा नियंत्रक द्वारा यह आश्वासन दिया गया कि छात्रों को इसका मूल्यांकन के द्वारा ध्यान रखते हुए उनके अंक नहीं काटे जाएंगे. लेकिन सेमेस्टर 3 के रिजल्ट में छात्रों के अंग काटे गए और उन्हें फेल कर दिया गया. इससे छात्र काफी नाराज हैं और छात्र कुलपति से यह मांग कर रहे थे कि परीक्षा विभाग अपनी गलतियों को सुधारें उनका रिजल्ट पुनः प्रकाशित करें.

इसे भी पढ़ें : 8 अरब की वन भूमि निजी और सार्वजनिक कंपनियों के हवाले, फिर भी प्रोजेक्ट पूरे नहीं 

छात्रों ने डीएसडब्ल्यू परीक्षा नियंत्रक से की वार्ता

छात्र नेता तनुज खत्री के अध्यक्षता में सोमवार को छात्रों ने परीक्षा विभाग की त्रुटियों को लेकर जमकर हंगामा किया. छात्रों ने रांची विश्वविद्यालय के मुख्य द्वार पर विश्वविद्यालय प्रशासन के खिलाफ नारे लगायें. मामले को गंभीरता पूर्वक रांची विश्वविद्यालय के परीक्षा नियंत्रक राजेश कुमार उपाध्याय और डीएसडब्ल्यू पीके वर्मा ने पहल की डीएसडब्ल्यू ने कहा कि छात्रों की समस्याओं का समाधान जल्द विवि की ओर से किया जाएगा. वहीं परीक्षा नियंत्रक राजेश कुमार आपात उपाध्याय ने कहा कि परीक्षा विभाग मामले को लेकर गंभीर है छात्रों की कॉपियां और उनके अंकपत्र एक बार पुनः जांचें जाएंगे.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: