Bihar

BEGUSARAI: पैसे के लेनदेन में शिक्षक का अपहरण, पुलिस ने किया खुलासा

Begusarai: जिले के भेलवारा के रहने वाले कोचिंग शिक्षक अंकित का अपहरण पैसे की लेनदेन में किया गया था इसका खुलासा पुलिस ने बुधवार देर रात किया. शिक्षक अंकित कुमार का उन्हीं के पार्टनर चंदन कुमार और स्टूडेंट शिवम सिंह ने किडनेप किया था. पुलिस ने इस मामले में गया के टनकुप्पा के रहने वाले टीचर चंदन, पाटलिपुत्र थाना इलाके में रहने वाले शिवम के साथ चंदन के परिचित घटना में शामिल नीतीश कुमार और मनीष कुमार को गिरफ्तार कर लिया है.

इसे भी पढ़ें :  Jharkhand में 25 मार्च से मैट्रिक-इंटर परीक्षा संभावित, होम सेंटर से इन्कार

जांच में पुलिस ने नीतीश के पास से अंकित की स्कूटी और मनीष के पास से उनका मोबाइल बरामद कर लिया है. मनीष, दिवाकर और नीतीश सभी शिवम के घर में रहते हैं. जानकरी के अनुसार चंदन पहले अंकित के मकान में किराए में शास्त्रीनगर के सीडीए कॉलोनी में रहता था पर बाद में वह करबिगहिया में रहने लगा. गौरतलब हो अंकित का किडनेप 4 फरवरी की रात हुआ था. 5 फरवरी को अंकित के पिता अरुण कुमार के मोबाइल पर अंकित के मोबाइल से ही 6 लाख की फिरौती मांगी गई थी लेकिन पुलिस ने 5 फरवरी की रात को उसे पाटलिपुत्र थाना इलाके में शिवम के मकान से बरामद कर लिया.

चंदन अंकित का छात्र था, अंकित और चंदन एक-दूसरे को 15 साल से जान रहे हैं. दोनों ही पटना में एक साथ मेडिकल की कोचिंग करते थे पर सफलता नहीं मिलने के बाद दोनों ने प्रियदर्शनी नामक कोचिंग संस्थान खोला. इसके लिए चंदन ने 5 लाख रुपए दिए थे. बताया गया कि खेत बेचकर उसने रकम लगाई थी. लॉकडाउन हो जाने की वजह से कोचिंग बंद हो गई. इसके बाद अंकित और चंदन पासपार्ट ऑफिस के पीछे टारगेट कोचिंग में पढ़ाने लगे. चंदन बार-बार अंकित से 5 लाख की मांग कर रहा था पर वह रकम नहीं दे रहा था. इस कारण से उसने अपहरण की साजिश रची.

इसे भी पढ़ें : रांची पहुंचा कर्नाटक हिजाब विवाद, डोरंडा कॉलेज में विद्यार्थियों ने की नारेबाजी, पुलिस ने समझा-बुझाकर मामले को कराया शांत

Related Articles

Back to top button