Lead NewsNational

सावधान रहें, कोरोना का खतरा बढ़ा, हॉस्टल में 229 स्टूडेंट्स और 3 स्टाफ कोरोना पॉजिटिव निकले

Mumbai : देश में कोरोना वायरस के संक्रमण के मामलों में एक बार फिर से तेजी आ गयी है. कुछ राज्यों में मरीजों की संख्या बहुत तेजी से बढ़ रही है. जिन राज्यों में ज्यादा मामले आ रहे हैं उनमें महाराष्ट्र भी शामिल है. गुरुवार को वाशिम जिले के एक हॉस्टल में 229 छात्र और 3 स्टाफ मेंबर कोरोना पॉजिटिव निकले हैं.
इस हॉस्टल में अमरावती, हिंगोली, नांदेड़, बुलढाणा, वाशिम और अकोला के करीब 327 छात्र मौजूद हैं. मामला सामने आने के बाद हॉस्टल को कंटेनमेंट जोन घोषित कर दिया गया है और पॉजिटिव मिले छात्रों को आइसोलेट किया गया है.

इसे भी पढ़ें :गिरिडीह में किसान की हत्या के बाद हंगामा, ग्रामीणों को पुलिस ने खदेड़ा, मची अफरातफरी

एक माह बाद एक दिन में 15,000 से ज्यादा संक्रमित मिले

देश भर में ही कोरोना के मामलों में तेजी आई है. बीते 24 घंटे में देश भर से कोरोना संक्रमण के 16,738 नए केस सामने आए हैं और 138 लोगों की मौत हुई है. करीब एक महीने बाद पहली बार ऐसा हुआ है, जब कोरोना पीड़ितों की संख्या में एक दिन में 15,000 से ज्यादा का इजाफा हुआ है.

स्वास्थ्य मंत्रालय ने गुरुवार को आंकड़े जारी करते हुए बताया कि कुल कोविड मामलों की संख्या 1,10,46,914 हो गई है, जबकि मृतकों का आंकड़ा 1,56,705 हो गया है. सुबह 8 बजे अपडेट किए गए डाटा के मुताबिक 29 जनवरी के बाद यह पहला मौका है, जब एक साथ इतने ज्यादा केस सामने आए हैं. इससे पहले 29 जनवरी को 18,855 नए केस मिले थे.

इसके अलावा एक दिन में मृतकों के आंकड़े की बात करें तो 26 दिनों के बाद इतनी बड़ी संख्या सामने आई है. इसके अलावा कोरोना को मात देने वालों का आंकड़ा भी 1,07,38,501 हो गया है. इसके साथ ही कोविड-19 रिकवरी रेट भारत में 97.21 पर्सेंट हो गया है. वहीं मृतक दर 1.42 फीसदी है.

इसे भी पढ़ें :किसानों की कर्जमाफी की आधी राशि सरकार की दूसरी योजनाओं में कर दिया गया ट्रांसफर

देश में 1,51,708 एक्टिव केस हैं

फिलहाल देश भर में 1,51,708 एक्टिव केस हैं, जो कुल मामलों का 1.37 फीसदी है. भारत में कोरोना के 20 लाख केसों का आंकड़ा 7 अगस्त को पूरा हुआ था, 23 अगस्त को यह आंकड़ा 30 लाख और 5 सितंबर 2020 को यह आंकड़ा 40 लाख तक पहुंच गया था. इसके बाद 16 सितंबर को कुल मामलों की संख्या 50 लाख के पार पहुंच गई थी. इसके बाद 28 सितंबर को 60 लाख, 11 अक्टूबर को 70 लाख, 29 अक्टूबर को 80 लाख और 20 नवंबर को आंकड़ा 90 लाख तक पहुंच गया था. बीते साल 19 दिसंबर को कुल कोरोना मामलों की संख्या 1 करोड़ के पार हो गई थी.
हालांकि एक करोड़ का आंकड़ा पार होने के बाद रफ्तार कुछ कम हुई थी, लेकिन एक बार फिर से कोरोना के बढ़ते मामलों ने चिंताओं को बढ़ा दिया है.

महाराष्ट्र, केरल समेत इन 5 राज्यों में खतरा ज्यादा

आईसीएमआर के आंकड़ों के मुताबिक 24 फरवरीतक 21,38,29,658 सैंपल लिए गए हैं, जिनमें से 7,93,383 सैंपल बुधवार को ही लिए गए थे. कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच महाराष्ट्र, केरल समेत 5 राज्य चिंता की वजह बने हुए हैं. बीते 24 घंटे में कोरोना से हुईं 138 मौतों में 80 मौतें महाराष्ट्र में हुई हैं. इसके अलावा 17 लोगों की केरल में मौत हो गई और पंजाब में 7 लोगों की जान चली गई. इसके अलावा दक्षिण भारतीय राज्य तमिलनाडु और कर्नाटक में भी 6-6 लोगों की मौत हो गई.

इसे भी पढ़ें :पलामू के नौ सैनिक की मौत को मुंबई पुलिस ने बताया आत्महत्या, भड़के परिजनों ने फिर की सीबीआइ जांच की मांग

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: