Corona_UpdatesJharkhandLead NewsRanchiTOP SLIDER

हो जायें सावधानः रिम्स में बढ़ने लगे कोरोना के मरीज, आइसीयू में सात मरीज

पोस्ट कोविड के मरीज सदर और रिम्स में करा रहे हैं इलाज

Ranchi : कोरोना की तीसरी लहर को लेकर अलर्ट जारी किया गया है. वहीं सेकेंड वेव में कोरोना के मामले कम होने के बाद ढील देने का सिलसिला शुरू हो चुका है. इस बीच रिम्स में एकबार फिर कोरोना के मरीज बढ़ने लगे हैं. नये सभी मरीज आइसीयू में एडमिट किये जा रहे हैं. उन्हें बेहतर ट्रीटमेंट की जरूरत है. जिससे समझा जा सकता है कि अगर सावधानी नहीं बरती गयी तो स्थिति बिगड़ सकती है. बताते चलें कि तीन दिन पहले रिम्स में कोरोना के केवल दो मरीज बचे थे. अब रिम्स में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या 7 हो गयी है जो आइसीयू में हैं. वहीं सदर में एक भी मरीज नहीं था. अब पांच लोग कोरोना से ठीक होने के बाद दोबारा एडमिट हुए हैं. जिन्हें आइसीयू में रख कर इलाज किया जा रहा है.

इसे भी पढ़ें : कोरोना काल में पारिवारिक विवाद के मामले बढ़े, महिला पुलिस की सूझबूझ से कई घर तबाह होने से बचे

पोस्ट कोविड के रिम्स में 36, सदर में 5 मरीज

कोरोना की दूसरी लहर में जिन लोगों ने कोरोना को मात दी वे भी पूरी तरह से रिकवर नहीं हो पा रहे. अब रिम्स की बात करें तो वहां पर पोस्ट कोविड के 36 मरीज एडमिट हैं जबकि सदर में 5. इसके अलावा एक्टिव केस भी 900 के करीब बचे हैं. जिसमें ज्यादातर होम आइसोलेशन में हैं. ऐसे में थोड़ी सी चूक सीधे हॉस्पिटल पहुंचा देगी.

advt

इसे भी पढ़ें : बिहार STET माध्यमिक शिक्षकों की 37447 सीटों के लिए 80 हजार अभ्यर्थी पास

ऑफिस में भी नियम की अनदेखी

रांची नगर निगम में अब लोग अपना काम कराने पहुंच रहे हैं. जन सुविधा केंद्र के काउंटरों पर भीड़ लग रही है. लोग एक दूसरे से आगे निकलने की होड़ में नियमों की अनदेखी करने में जुटे हैं. इसके बावजूद ड्यूटी में तैनात होम गार्ड का जवान उन्हें हटा नहीं रहे हैं. ऐसे में अगर एक भी व्यक्ति पॉजिटिव रहा तो न जाने कितने लोग इसकी चपेट में आ जायेंगे.

adv

छूट का लोग न उठायें गलत फायदा

सरकार ने गुरुवार से अनलॉक के तहत छूट की सीमा बढ़ा दी है. अब दुकानें रात को 8 बजे तक खुलेंगी. वहीं पार्क, सिनेमा हॉल और अन्य सभी चीजें खोलने का आदेश दे दिया गया है. इसके बाद तो मार्केट में लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी है. वहीं लोग मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग को पूरी तरह से भूलने लगे हैं. लेकिन उनकी ये लापरवाही फिर से उन्हें हॉस्पिटल पहुंचा सकती है. जिसका अंदाजा लोगों को नहीं है.

आइइसी के नोडल आफिसर सिद्धार्थ त्रिपाठी ने बताया कि कोरोना से बचाव का एकमात्र उपाय है कि कोविड एप्रोप्रीएट बिहेवियर को अपनायें तो इस बीमारी से बच सकते हैं. मास्क, सोशल डिस्टेंसिंग के साथ ही सफाई जरूरी है. छूट को लेकर बेवजह भीड़ लगाने से बचे और जरूरी न हो तो घर में ही रहें.

इसे भी पढ़ें :नीतीश सरकार का बड़ा फैसला, जो अधिकारी अब संपत्ति का नहीं देंगे ब्यौरा उनपर दर्ज होगी FIR

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: