JharkhandPalamu

औचक निरीक्षण पर स्कूल पहुंचे बीडीओ शिक्षकों की अनुपस्थिति पर भड़के, 10 को शोकॉज

Palamu :  बढ़ी हुई गर्मी को देखते हुए स्कूलों के समय में परिवर्तन कर दिया गया था. सरकारी आदेश के मुताबिक सुबह 6.30 बजे से 10 बजे तक कक्षा संचालित करने का सरकारी निर्देश है. लेकिन शिक्षक इस आदेश को खुलेआम ताक पर रखकर चल रहे हैं.

इसका पता तब लगा, जब  के नावाबाजार बीडीओ राजेश बारला गुरूवार को प्रखंड अंतर्गत कंडा टेन प्लस टू विद्यालय औचक निरीक्षण के लिए पहुंच गए. बीडीओ ने जब इस विद्यालय की जांच की तो वहां सुबह 7.30 बजे तक 10 शिक्षक अनुपस्थित पाए गए.

इसे भी पढ़ें – सीसीएल, रेलवे, पुलिस व ट्रांसपोर्टरों के सिंडिकेट ने 36 हजार टन जब्त कोयला पावर कंपनियों को भेजा

advt

भड़के बीडीओ, मांगा स्पष्टीकरण 

विद्यालय के निरीक्षण के दौरान एक साथ 10 शिक्षकों को अनुपस्थित पाकर बीडीओ भड़क उठे. उन्होंने अनुपस्थित शिक्षकों को शोकॉज किया, वहीं समय सारिणी के अनुसार शिक्षकों को विद्यालय पहुंचने और नियमित समय तक पढ़ायी कराने का निर्देश भी दिया.

उन्होंने कहा कि सरकार के नये आदेश के मुताबिक, सुबह 6.30 बजे क्लास लग जानी चाहिए और पूर्वाहन 10 बजे तक पढ़ायी होनी जरूरी है.

मध्याहन भोजन में बच्चों को नहीं मिलता अंडा

बीडीओ द्वारा मध्याहन भोजन की भी जांच की गयी. बच्चों ने शिकायत की कि कई माह से विद्यालय में अंडा का वितरण नहीं हो रहा है. बच्चों की शिकायत को बीडीओ द्वारा गंभीरता से लिया गया और सप्ताह में दो दिन बच्चों को अंडा देने का निर्देश भी दिया गया.

बीडीओ ने कहा कि शिक्षकों के साथ मिलकर विद्यालय को भ्रष्टाचार का अड्डा बनाने के बजाए शिक्षा समिति व माता समिति अपने दायित्व का ईमानदारी से निर्वहन करें.

adv

सरकारी आदेश दरकिनारे करते पाया गया पारा शिक्षक

दमारो राजकीय मध्य विद्यालय का जायजा लेने पर बीडीओ ने पाया कि छह साल से पारा शिक्षक प्रभु राम विद्यालय सचिव का पदभार संभाल रहे हैं. जब उनसे रजिस्टर मांगां गया तो वे उपलब्ध नहीं करा सके. इसपर बीडीओ ने 24 घंटे के भीतर विद्यालय सचिव का पदभार सरकारी शिक्षक उपाध्याय सिंह को सौंपने का निर्देश दिया.

साथ ही आदेश दिया कि ऐसा नहीं होने पर कार्रवाई की जायेगी. दरअसल तीन साल पहले प्रभु राम को पदभार सौंपने का आदेश दिया गया था, लेकिन सरकारी आदेश को पारा शिक्षक ने दरकिनार करके अबतक रखा.

इसे भी पढ़ें – झारखंडः जब आती है बड़े नेता या अधिकारी की बात तो सरकार जांच तक की अनुमति नहीं देती

इन व्यवस्थाओं को लागू करने का निर्देश 

बीडीओ ने स्पष्ट लहजे में कहा कि विद्यालय के प्रति लापरवाही बरतने पर शिक्षक नपेंगे. सरकार के निर्धारित समया अनुसार ही विद्यालयों में शिक्षकों को उपस्थित रहना होगा. मिड डे मील में लापरवाही बरतने पर सचिव व समिति पर कार्रवाई होगी. पेयजल सहित अन्य समुचित व्यवस्था हर हाल में बहाल करनी होगी.

बता दें कि सरकार के प्रधान सचिव स्कूली शिक्षा एवं सक्षारता विभाग के निर्देशानुसार जिला शिक्षा पदाधिकारी ने स्कूलों के समय में परिवर्तन किया है. इस संबंध में सभी प्रखंडों के शिक्षा प्रसार पदाधिकारी को पत्र भेजकर निर्देश का अनुपालन करने का निर्देश दिया गया है. ये आदेश सभी कोटी के सरकारी और निजी विद्यालय के प्राचार्यों को भी दे दिया गया है.

इसे भी पढ़ें – बिशप हार्टमन के वाईस प्रिंसिपल को स्कूल प्रबंधन ने किया टर्मिनेट, आरोपी फरार

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button