न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

चंदा की मौत के पीछे बीसीसीएल प्रबंधन व स्थानीय प्रशासन है दोषी: ददई दुबे

eidbanner
106

Jharia: बीसीसीएल के बस्ताकोला क्षेत्र के राजापुर परियोजना के बंद खदान में गत शुक्रवार को हुए हादसे में मारे गये तीन लोगों में मृत चंदा कुमारी के परिजनों से मिलकर पूर्व सांसद ददई दुबे ने शोक संवेदना प्रकट किया. इस दौरान पूर्व सांसद ने CO और SDM से पूछा कि व्यवस्था क्यों मौन है?

इसे भी पढ़ें: अंतरराष्ट्रीय मेडल जीतने वाले खिलाड़ियों को सरकारी नौकरी में 2 प्रतिशत आरक्षण- रघुवर दास

खूबसूरत व दिलदार चंदा का दुनिया से चले जाना दुखद

अंतरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त चंदा जैसी खुशहाल, खूबसूरत व दिलदार लड़की का दुनिया से चले जाना एक दुखद घटना है. उस पर सबकी चुप्पी एक डर का एहसास कराती है कि समाज के गरीब तबकों को क्यों बेसहारा छोड़ दिया जा रहा है. इस असमय मौत का कारण भूख और गरीबी है. अगर सरकार ने रोजगार की व्यवस्था की होती तो कोई अपनी जान की कीमत पर काम नहीं करता. इस दुखद घटना पर स्थानीय जनप्रतिनिधियों की असंवेदनशील रवैये को भी उन्होंने आड़े हाथों लिया और प्रशासन से जल्द से जल्द मुआवजा की मांग की. साथ ही अन्य बुनियादी सुविधाये अविलंब देने के लिए दबाव बनाया. हम आपको बता दें इस अवैध उत्खनन में इन तीनों मृतकों में एक नाबालिग चंदा कुमारी भी थी, जो झरिया गुजराती स्कूल में कक्षा सप्तम की छात्रा भी थी. चंदा की माली  स्थिति ठीक ठाक नहीं होने के कारण वह अपनी पढ़ाई के साथ कोयला चुनने का काम करती थी.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

hosp22
You might also like
%d bloggers like this: