न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

बीबीसी ने पांच जुलाई 1954 को प्रथम टीवी समाचार बुलेटिन का प्रसारण किया था

330

NewDelhi :  बीबीसी के नाम से मशहूर ब्रिटिश ब्राडकास्टिंग कारपोरेशन की खबरों की दुनिया में अपनी एक खास जगह है. कोई भी खबर अगर बीबीसी से जारी हो जाये तो उसकी विश्वसनीयता पर कोई संदेह नहीं रह जाता. बता दें कि बीबीसी से पहले टीवी समाचार  पांच जुलाई 1954 को शुरू हुआ था. इतिहास की किताबों में पांच जुलाई के नाम पर एक और महत्वपूर्ण घटनाक्रम भी दर्ज है.

इसे भी पढ़़े़ें :   कर्नाटक : अंधवि श्वासी हैं मंत्री रेवन्ना, ऑफिस आने-जाने के लिए 342 किलोमीटर की दूरी तय करते हैं 

जेफ बेजोज ने पांच जुलाई 1994 को अमेजन की स्थापना की

दरअसल ई-कॉमर्स वेबसाइट अमेजन की नींव आज ही के दिन पड़ी थी. अमेजन के नाम से दुनिया भर में अपना व्यवसाय चलाने वाली कंपनी की स्थापना वाशिंगटन में जेफ बेजोज ने पांच जुलाई 1994 को की थी. पांच जुलाई की तारीख पर इतिहास में दर्ज कुछ अन्य घटनाओं का सिलसिलेवार ब्योरा इस प्रकार है.

इसे भी पढ़ें- सीडब्ल्यूसी का बड़ा खुलासा : अविवाहित गर्भवती लड़कियों को निर्मल हृदय में मिलता है आश्रय, बच्चा होने पर बेच दिया जाता है उसे

 

मुगल शासक औरंगजेब ने अपने बड़े भाई मुराद बख्श को बंदी बनाया था

पांच जुलाई 1658 को मुगल शासक औरंगजेब ने अपने बड़े भाई मुराद बख्श को बंदी बनाया था. 1811 में वेनेजुएला के सात प्रांतों ने स्पेन के शासन से स्वतंत्रता की घोषणा की. 1814 में ओंटारिया के चिप्पेवा में अमेरिकियों ने ब्रिटेन और कनाडा की फौज को हराया. 1841 में थॉमस कुक ने पहली ट्रैवल एजेंसी स्थापित की. 1865 में ग्रेट ब्रिटेन ने वाहनों की गति की अधिकतम सीमा तय करने वाला दुनिया का पहला कानून बनाया.

1922 में नीदरलैंड में पहली बार आम चुनाव हुए

1922 में नीदरलैंड में पहली बार आम चुनाव हुए. 1935 में फ्रैंकलिन डी. रूजवेल्ट ने अमेरिका के नेशनल लेबर रिलेशंस कानून पर हस्ताक्षर किये. 1946 में लुईस रीड ने पेरिस फैशन शो में पहली बार बिकिनी स्विम-सूट के डिजाइन पेश किये. 1950 में नये कानून के तहत सभी यहूदियों को इस्राइल में रहने की अनुमति दी गयी.   पांच जुलाई 1977 में जनरल मोहम्मद जिया उल-हक के नेतृत्व में पाकिस्तानी सेना ने तख्ता पलट कर देश के शासन पर कब्जा किया.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं 

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: