HazaribaghJharkhand

हजारीबाग :  पिता के अंतिम संस्कार के लिए घंटों भटकती रही बेटी, बरही प्रशासन व विकास मंच ने किया सहयोग

Hazaribagh : बरही से एक हृदयविदारक घटना सामने आयी है. रसोईया धमना निवासी स्वापन घोष उर्फ अमली की मौत मंगलवार को अनुमंडलीय अस्पताल बरही में इलाज के दौरान हो गयी.

स्वापन घोष के परिवार में सिर्फ उनकी एक बेटी है, जिसका नाम दुर्गा कुमारी है. दुर्गा सोमवार को अस्पताल में अपने पिता को लेकर आई थी. लेकिन वे चल बसे.

इसे भी पढें :पप्पू यादव बोले- मुझे कोरोना पॉजिटिव कर मरवा देंगे नीतीश कुमार

दुर्गा शव का अंतिम संस्कार करवाने के लिए अस्पताल व गांव वालों से मदद मांगती रही, लेकिन कोई सामने नहीं आया. तब बरही प्रशासन और सद्भावना विकास मंच के सदस्य सामने आए. मंच के अध्यक्ष राजसिंह चौहान व अन्य सदस्य की मदद से शव का अंतिम संस्कार हुआ.

advt

जानकारी बरही प्रशासन को मिली तो लकड़ी की व्यवस्था की. बेटी दुर्गा कुमारी ने अपने पिता को मुखाग्नि दी. दाह संस्कार में सीओ अरविंद देवाशीष टोपो, सद्भावना विकास मंच के अध्यक्ष राज सिंह चौहान, सचिव कुन्दन कुमार, व्यवस्थापाक मंत्री मो जियाउल, सक्रीय सदस्य विक्रम सिंह, एम्बुलेंस चालक मो शमसाद सभी उपस्थित होकर दाह संस्कार में सहयोग करवाया.

इसे भी पढ़ेंःSRH के कप्तान वॉर्नर का सनसनीखेज खुलासा, ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों से कुछ दूर गिरा था चीन का अनियंत्रित रॉकेट

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: