न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

बैंककर्मियों ने किये थे एसबीआई के एटीएम से 51लाख रुपये गायब, चार आरोपी गिरफ्तार

गिरफ्तार लोगों में मुख्य रूप से एडमिनिस्ट्रेशन सेल के अधिकारी संजय कुमार केसरी, कैश एडमिनिस्ट्रेशन बृंदा प्रसाद, मैकेनिकल इंजीनियर विजय कुमार सिंह और एटीएम गार्ड मनोज मंडल शामिल है.

881

Deoghar : जसीडीह थाना क्षेत्र के चकाई मोड स्थित एसबीआई के एटीएम से पिछले माह 51 लाख 14 हजार रुपये गायब होने के मामले में देवघर पुलिस ने कारवाई करते हुए चार लोगों को गिरफ्तार कर लिया है. गिरफ्तार लोगों में मुख्य रूप से एडमिनिस्ट्रेशन सेल के अधिकारी संजय कुमार केसरी, कैश एडमिनिस्ट्रेशन बृंदा प्रसाद, मैकेनिकल इंजीनियर विजय कुमार सिंह और एटीएम गार्ड मनोज मंडल शामिल है. इनके पास से 12 लाख रुपये और तीन मोबाइल बरामद किये गये हैं.

एटीएम का गुप्त पासवर्ड प्राप्त कर दिया घटना का अंजाम

घटना का खुलासा करते हुए एसपी नरेंद्र कुमार सिंह ने बताया कि पिछले माह 10 जुलाई को बिजली कड़कने के कारण एटीएम सेंटर की बिजली और सीसीटीवी लाइन 13 जुलाई तक खराब थी. इस स्थिति में विजय कुमार सिंह ने 12 जुलाई को शाम करीब सात बजे    संजय कुमार केसरी सहित अन्य अभियुक्तों ने मिल कर एटीएम का गुप्त पासवर्ड प्राप्त किया. इसके बाद एटीएम के निजी गार्ड के सहयोग से घटना को अंजाम दिया. इस मामले में बैंक के वरीय पदाधिकारी और मैनेजर प्रशांत कुमार की भूमिका संदिग्ध पायी गयी है. इसका अनुसंधान जारी है. फिलहाल आगे की कार्रवाई की जा रही है. एसपी ने बताया कि घटना के बाद एक विशेष टीम का गठन किया गया था. टीम ने तकनीकी अनुसंधान के जरिये चार लोगों को गिरफ्तार किया.

इसे भी पढ़ें : सिर पर है विधानसभा चुनाव और कार्यकर्ता कन्फ्यूज, झारखंड में कांग्रेस बची है भी या नहीं

 क्या है मामला

जसीडीह थाना क्षेत्र के चकाई मोड स्थित एसबीआई  के एटीएम में 8 जुलाई को 55 लाख 67 हजार रुपये थे. 9 जुलाई को एक ग्राहक ने मात्र 500 रुपये की निकासी की थी. इसके बाद तकनीकी गड़बड़ी की वजह से एटीएम ने काम करना बंद कर दिया. 30 जुलाई को जब अधिकारियों की ओर से जांच पड़ताल की गयी तो उक्त एटीएम में मात्र 4 लाख 52 हजार रुपये ही मिले. एटीएम पूरी तरह से सुरक्षित होने के बाद भी रुपयों का गायब हो जाने के मामले में जसीडीह थाना में मामला दर्ज करवाया गया था.

hotlips top

इसे भी पढ़ें : रांची : नो एंट्री के समय में देखे जाते हैं बड़े वाहन, पुलिस की कार्यशैली पर लगाते हैं सवालिया निशान

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

o1
You might also like