JharkhandLead NewsRanchi

टीवीएनएल को आवंटित कोल ब्लॉक की बैंक गारंटी सीज, कोयला मंत्रालय ने शुरू की कैंसिल करने की प्रक्रिया

Akshay Kumar Jha

Ranchi: झारखंड में बिजली की किल्लत की ठीकरा हमेशा टीवीएनएल पर फोड़ा जाता है. जैसे ही टीवीएनएल पर बात आती है, विभाग और सरकार की तरफ से कोयला कि कमी पर बात की जाती है. नतीजा यह निकलता है कि सीसीएल टीवीएनएल को कोयला नहीं देता जिस वजह से बिजली उत्पादन प्रभावित होती है. इन सारी परेशानियों से निजात पाने की एक मात्र उपाय बताया गया कि टीवीएनएल खुद कोयला उत्पादन करे. इसके लिए भारत सरकार की कोयला मंत्रालय की तरफ से टीवीएनएल को कोल ब्लॉक आवंटित भी किया गया. भारत में कोल स्कैम होने के बाद कई कतंपनियों को नए सिरे से कोल ब्लॉक आवंटित हुए. जिसमें टीवीएनएल भी शामिल था. टीवीएनए को लातेहार जिले में ईएंडडी कोल ब्लॉक आवंटित किया गया. लेकिन टीवीएनएल प्रबंधन की लापरवाही से आज तक इसे शुरू नहीं किया जा सका.

इसे भी पढ़ें:  आदित्यपुर पुलिस ने अवैध शराब भट्ठी किया ध्वस्त, आधा दर्जन शराबी हिरासत में

Catalyst IAS
SIP abacus
MDLM
Sanjeevani

148.50 करोड़ की बैंक गारंटी सीज, कैंसिल होने की प्रक्रिया शुरू

2015 में बाकी कंपनियों के साथ टीवीएनएल को भी कोल ब्लॉक आवंटित किया गया था. लेकिन आठ साल के बाद टीवीएनएल की तरफ से कोल उत्पादन शुरू नहीं किया जा सका. कोयला मंत्रालय की शर्तों को पूरा नहीं किए जाने की सूरत में अब कोयला मंत्रालय ने टीवीएनएल की 148.50 करोड़ की बैंक गारंटी सीज कर ली है. वहीं कोयला मंत्रालय के पुख्ता सूत्रों ने बताया है कि इस कोल ब्लॉक को सील करने की प्रक्रिया शुरू कर दी गयी है. अगर टीवीएनएल को कोल ब्लॉक कैंसिल हो जाता है तो झारखंड सरकार की एकमात्र बिजली उत्पादन करने वाली कंपनी पर हमेशा कि लिए कोयले की कमी का ग्रहण लग जाएगा.

एनटीपीसी, वेदांता समेत 16 कंपनियों को भी नोटिस जारी

कोयला मंत्रालय की एक अहम बैठक में 24 कोयला खदानों की समीक्षा की गयी. समिति ने बैठक के बाद 22 कोल ब्लॉक के लिए 16 कंपनियों को कारण बताओ नोटिस जारी किया. वेदांता और एनटीपीसी के तीन-तीन ब्लॉक के उत्पादन में देने के लिए नोटिस जारी किया गया, जबकि बिरला कॉपर लिमिटेड और कर्नाटक पावर कॉरपोरेशन लिमिटेड को 22 ब्लॉक के लिए कारण बताओ नोटिस जारी किया गया. इसके अलावा जिन कंपनियों को नोटिस जारी किए गए दामोदर घाटी निगम, पावर डेवलपमेंट कॉरपोरेशन लिमिटेड और आयरन एंड स्टील कंपनी लिमिटेड पर विचार करने के लिए समिति का गठन किया है.

नोटः इस मामले पर टीटीपीएस के एमडी से बात करने की कोशिश की गयी. उन्होंने सवाल सुनने के बाद कहा कि अभी मैं व्यस्त हूं. बाद में बात करूंगा.

Related Articles

Back to top button