न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

राजधानी समेत पूरे प्रदेश में बंद का मिलाजुला असर, 8234 समर्थक हुए गिरफ्तार, रिहा

जमशेदपुर में 831 व खूंंटी से 30 बंद समर्थक हुए गिरफ्तार

194

Ranchi : देश भर में पेट्रोल, डीजल की बढ़ती कीमतें और महंगाई को लेकर बुलाए गए भारत बंद का राजधानी रांची समेत पुरे प्रदेश में मिलाजुला असर देखने को मिला. बंद समर्थको के सड़कों पर उतरते ही प्रशासन द्वारा गिरफ्तार कर कैंप जेल भेज दिया गया. अपराह्न तीन बजे तक राज्य भर से लगभग 8200 से ज्यादा बंद समर्थकों की गिरफ्तारी हुई. जबकि राजधानी रांची से 456 बंद समर्थकों को गिरफ्तार किया गया. सबसे ज्यादा जमशेदपुर से बंद समर्थक गिरफ्तार किए गए. यहां से 831 बंद समर्थकों गिरफ्तार हुए जबकि सबसे कम खुंटी से मात्र 30 बंद समर्थक ही सड़क पर उतरे. भारत बंद में सभी दल के समर्थक शामिल थे. गिरफ्तार किए गए बंद समर्थकों को प्रशासन द्वारा विभिन्न स्थानों पर बनाये गए कैंप जेल में रखा गया. देर शाम इन बंद समर्थकों को रिहा कर दिया गया.

इसे भी पढ़े : इंटर रिलीजन मैरेज: लड़की ने कोर्ट में दिया लड़के का साथ, अब मीडिया में बदल दिया बयान

आम जनमानस ने स्वत: दिया समर्थन

आम लोगों के रोजमर्रा से जुड़े मामले होने कारण इस बंद को लोगों ने स्वत: समर्थन दिया. कई प्रति‍ष्ठित दुकानदारों ने स्वत: ही अपने दुकानों को बंद कर दिया. हालांकि इस दौरान कई छिटपुट दुकाने खुली हुई थीं. इसके अलावा सड़क पर लोगों की आवाजाही भी अन्य दिनों के मुकाबले कम ही देखी गयी. सवारी गाडियां भी कम चली. सिटी बसों को पुलिस के जवानों को लाने ले जाने एवं बंद समर्थकों को कैंप जेल पहुंचाने में व्यस्त रखा गया था.

इसे भी पढ़े : लगाये गए 18 करोड़ पौधे, 7 जिलों में एक ईंच नहीं बढ़े जंगल

चप्पे-चप्पे पर तैनात थी पुलिस

बंद के दौरान हर प्रकार के उपद्रव से निबटने के लिए जिला प्रशासन ने पुरी तैयारी कर रखी थी. चप्पे-चप्पे पर पुलिस की तैनाती की गई थी. जैप, रैप, जिला पुलिस के लगभग हजारों जवान विभिन्न चौक-चौराहों पर गश्ती कर रहे थें एवं लगातार हर गतिविधि पर नजर जमाये हुए थे. डीसी, एसएसपी, एसपी स्वंय विभिन्न स्थानों पर पहुंच कर स्थिति का जायजा ले रहे थे. इसके अलावा सीसीटीवी, ड्रोन से भी उपद्रवियों पर नजर रखा जा रहा था. इसकी मोनिटरिंग एसएसपी एवं सिटी एसपी स्वंय कर रहे थे.

इसे भी पढ़े : छह IAS जांच के घेरे में, प्रधान सचिव रैंक के अफसर आलोक गोयल की रिपोर्ट केंद्र को भेजी, चल रही…

अधिकांश स्कूल रहे बंद

पेट्रोल-डीजल के बढ़े दामों के खिलाफ कांग्रेस द्वारा बुलाये गए भारत बंद को झारखंड में जेएमएम, जेवीएम, आरजेडी, वामदलों समेत 21 दलों का समर्थन प्राप्त था. जिस कारण होने वाले उपद्रव की संभावना को देखते हुए अधिकांश स्कूलों को बंद कर दिया था. कई विद्यालयों में परीक्षायें भी इसे भी स्थगीत कर दिया गया था.

इसे भी पढ़े : मारपीट के मामले में मंत्री सरयू राय कोर्ट से हुए बरी, जज विपुल कुमार की कोर्ट ने सुनाया फैसला

कहां से कितने हुए गिरफ्तार

  • रांची –     456
  • खूंटी –     30
  • गुमला –    153
  • सिमडेगा –   131
  • लोहरदगा –  380
  • चाईबासा –  140
  • जमशेदपुर –  831
  • सरायकेला  – 392
  • पलामू   –    178
  • गढ़वा  –      150
  • लातेहार –    255
  • हजारीबाग  –  391
  • रामगढ़    – 177
  • गिरिडीह  –  609
  • कोडरमा –   304
  • चतरा  –     157
  • बोकारो –     350
  • धनबाद  –    482
  • दुमका   –    283
  • देवघर  –     618
  • जामताडा   – 517
  • पाकुड  –    165
  • गोड्डा  –    378
  • साहेबगंज   –  707

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: