JharkhandLead NewsPalamu

बकोरिया मुठभेड़ कांड: पलामू के भलुअही घाटी में सीबीआई की टीम ने एक घंटे तक की जांच

Palamu: सात वर्ष पुराने कथित बकोरिया मुठभेड़ कांड की जांच कर रही सीबीआई की टीम एक बार फिर जांच के लिए पलामू में है. जांच के क्रम में टीम एक बार फिर मंगलवार जिले के सतबरवा थाना क्षेत्र के बकोरिया भलुअही घाटी पहुंची. सीबीआई टीम करीब एक घंटे तक मुठभेड़ स्थल पर रही. सीबीआई टीम के अधिकारी घटनास्थल और उससे जुड़े कई जगहों पर गई. सीबीआई टीम के सदस्य शाम छह से सात बजे तक रुकी रही. बुधवार को सीबीआई के बड़े अधिकारियों के पलामू पहुंचने की संभावना है.

इसे भी पढ़ें:दिल्ली में झारखंड भाजपा सांसदों की बैठक, कई मुद्दों पर हुई चर्चा

इससे पूर्व सीबीआई की टीम चतरा के प्रतापपुर और लातेहार के छिपादोहर और मनिका के इलाके में गई थी. कथित मुठभेड़ में मारे गए नक्सली आरके यादव उर्फ डाक्टर, उसके भतीजे के साथ साथ मारे गए पारा शिक्षक उदय यादव के परिजनों से पूछताछ की है.

वहीं सीबीआई की टीम छिपादोहर के इलाके में पहुंची, जहां कथित मुठभेड़ मामले में इसी इलाके के चार नाबालिग मारे गए थे. मारे गए नाबालिगों के परिजन, ग्रामीण और मुखिया से सीबीआई की टीम ने पूछताछ की है.

इसे भी पढ़ें:Ranchi: अपर नगर आयुक्त ने दुकानों की शिफ्टिंग रोकी, आंदोलन के मूड में दुकानदार

बताया जाता है कि सीबीआई की टीम ने पूछताछ के लिए कई और लोगों को नोटिस जारी किया है. मुठभेड़ मामले में बुधवार को सीबीआई की टीम पुलिस समेत कई अधिकारियों से पूछताछ करेगी.

कथित बकोरिया मुठभेड़ की सच्चाई को सामने लाने की लड़ाई लड़ रहे जवाहर यादव ने कहा कि उन्हें मैनेज करने की कोशिश हुई है. मालूम हो कि 08 जून 2015 को बकोरिया के भलवही घाटी में कथित तौर पर पुलिस मुठभेड़ में 12 नक्सली मारे गए थे.

इसे भी पढ़ें:आत्मनिर्भर भारत निर्माण की दिशा में मेगा इंटीग्रेटेड टेक्सटाइल पार्क साबित होगा वरदान : दीपक प्रकाश

Related Articles

Back to top button