Main SliderNational

#BajrangDal का फरमान – गरबा में गैर-हिंदू करते हैं महिलाओं को परेशान, आधार कार्ड जांचकर रोकें एंट्री

विज्ञापन

Hyderabad :  बजरंग दल ने त्योहार सीजन में ऐसा फरमान सुनाया है. जिससे विवाद हो सकता है. तेलंगाना में बजरंग दल ने गरबा और डांडिया आयोजकों से कहा है कि जांजिया और गरबा के दौरान आधार कार्ड की जांच अनिवार्य करें.

अपने फरमान में बजरंग दल की ओर से कहा गया है कि नवरात्रि के दौरान आयोजित होने वाले गरबा और डांडिया के सभी एंट्री प्वाइंट पर आधार कार्ड की जांच करें. ताकि इससे आयोजन में गैर-हिंदुओं की एंट्री रोकी जा सके.

इसे भी पढ़ें – पलामू : वायरल #Audio में धमकी देते सुनाई दे रहे पांकी #MLA, विरोधी हुए #Active

बजरंग दल ने आयोजकों लिखा है खुला पत्र

तेलंगाना बजरंग दल ने आयोजकों को एक खुला पत्र लिखा है. उस खुले पत्र में बजरंग दल की ओर से दावा किया गया है कि नवरात्रि के दौरान आयोजित डांडिया और गरबा में पिछले कुछ वर्षों के दौरान गैर-हिंदू युवा प्रवेश कर जाते हैं. और वे समारोह के दौरान महिला प्रतिभागियों के साथ दुर्व्यवहार करते रहे हैं. साथ ही उन्हें तंग करते हैं.

वहीं बजरंग दल के खुले पत्र में यह भी दावा किया गया है कि गैर-हिंदू युवा ही महिलाओं से दुर्व्यवहार करने के साथ ही अन्य लोगों से मारपीट भी करते हैं, जो कथित पीड़ितों के बचाव के लिए आते हैं.

इसलिए बदरंग दल की ओर से आयोजकों को कहा गया है कि गैर-हिंदुओं का पता लगाने के लिए प्रवेश स्थल पर आधार कार्ड अनिवार्य करें.

हो सकता है विवाद

त्योहार के सीजन में देश के कोने-कोने में डांडिया और गरबा का आयोजन किया जाता है. जिसमें महिला और पुरूष दोनों ही मिलकर नाचते हैं. वहीं अन्य समुदाय के लोग भी दुर्गा पूजा के दौरान डांडिया समारोह में भाग लेते हैं. और भाइचारे की मिसाल भी पेश करते हैं. लेकिन ऐसे में तेलंगाना में बजरंग दल का बयान विवाद का रूप ले सकता है.

इसे भी पढ़ें –   कर्ज लौटाने की समय सीमा नहीं बढ़ी तो #ZeeMedia वाली एस्सेल ग्रुप डूब जायेगी!

Advertisement

Related Articles

Back to top button
Close