न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

बाघमारा विधायक ढुल्लू महतो फंस गये शह और मात के खेल में

355

Dhanbad : हमेशा दूसरे पर हावी रहने की प्रवृत्ति वाले बाघमारा से भाजपा के विधायक ढुल्लू महतो के लिए यह कठिन दौर है. हालांकि परिस्थितियों से निबटने की वह सारी युक्ति लगा रहे हैं, पर हालात गंभीर हैं.

विधायक ढुल्लू की परेशानी की वजह

  • उनपर शारीरिक शोषण की ऑनलाइन शिकायत दर्ज करानेवाली भाजपा नेत्री कमला देवी के उग्र तेवर हैं. वह रांची तक जाकर मामले को लेकर आवाज लगा चुकी है.
  • ढुल्लू के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति मामले की ईडी और आयकर विभाग से जांच की मांग से संबंधित याचिका दायर करनेवाले सिजुआ निवासी अधिवक्ता सोमनाथ चटर्जी ने जोगता थाना में ढुल्लू के खिलाफ शिकायत दर्ज करायी है. आरोप लगाया है कि ढुल्लू ने पहले एक महिला से उनपर बलात्कार का फर्जी मामला दर्ज कराया था. पुलिस जांच में मामला झूठा साबित हुआ. अब ढुल्लू के खिलाफ चल रहे मामले को प्रभावित करने के लिए उन्हें झूठे मामले में फंसाने की कोशिश की जा रही है. 1-12-2018 की दोपहर को एक महिला उनके आवास के पास मंडरा रही थी. यह उन्हें झूठे केस में फंसाकर मामले को प्रभावित करने का प्रयास हो सकता है. पुलिस इसकी ऊच्चस्तरीय जांच करे.
  • कतरास क्षेत्र की ढुल्लू के प्रभाववाली कोलियरियों में डीओधारकों से प्रतिटन लदाई की दर 650 के बदले 1250 करने की मांग का विरोध करते हुए इंडस्ट्रीज एंड कामर्स एसोसिएशन ने कोयला उठाव रोक दिया. इस महीने किसी ने भी कतरास क्षेत्र में ढुल्लू की प्रभाववाली कोलियरियों में डीओ नहीं लगाया.
  • मजदूर ढुल्लू के प्रभाव से अलग हो रहे हैं. ब्लाक टू के जीएम को पत्र लिखकर सूचित किया है कि वे लोग प्रतिटन 650 रुपये के पुराने दर पर ही कोयला लदाई करेंगे. मामले में ढुल्लू के प्रभाव से अलग मजदूरों ने जमुनिया डंप पर विधायक समर्थकों के खिलाफ पुलिस को शिकायत की है.
  •  भाजपा के मुखपत्र कमल संदेश के संपादक शिव शक्ति बख्शी की सक्रियता ढुल्लू के लिए चिंता का विषय है. उनको गिरिडीह लोकसभा क्षेत्र से भाजपा प्रत्याशी के रूप में देखा जा रहा है. यह भी संभव है कि पार्टी उनको किसी विधानसभा क्षेत्र में भी उतार दे. तोपचांची हटिया में आयोजित कृषि चौपाल में मंत्री रणधीर सिंह के साथ बख्शी ने मंच साझा किया. यह ढुल्लू की गिरिडीह से चुनाव लड़ने की राजनीतिक महत्वाकांक्षा को प्रभावित करने की बात है.
  • ढुल्लू के तमाम विरोधी पहले इस तरह एक साथ नहीं आये थे. भाजपा की महिला नेत्री कमला देवी को भी उनका सहयोग मिल रहा है. हाल ही में ढुल्लू के विरोधियों ने रांची में राज्यसभा के उपाध्यक्ष हरिवंश से मिल कर डीसी लाइन का मुद्दा उठाया था. इस पर ढुल्लू ने नकारात्मक प्रतिक्रिया जतायी थी. इसका जवाब सभी ने मिलकर एक प्रेसवार्ता में दिया था. इसमें ढुल्लू पर आदतन अपराधी होने संबंधी जो आरोप लगाये गये थे. उससे संबंधित वीडियो खूब वायरल हुआ था. उस वीडियो में लगाये गये आरोप का जवाब ढुल्लू ने अब तक नहीं दिया है.
  •  बीते सप्ताह की बात है, जब ढुल्लू ने ई-आक्शन चालू कराकर असंगठित मजदूरों के हित में काम करने का तमगा खुद लगाकर विजय जुलूस निकाला और रैली की. सांसद रवींद्र पांडेय पर ई-आक्शन रोकने का आरोप लगाकर उनको कोसा. दुर्भाग्य यह कि दिन में विजय जुलूस निकाला और रात में फिर से ई-आक्शन बंद कर देने की बीसीसीएल ने घोषणा की.

ढुल्लू के लिए राहत की बात

  • भाजपा नेत्री ने जिस दिन ढुल्लू पर शारीरिक शोषण का आरोप लगाया उसके दूसरे दिन ही एक महिला ने सांसद रवींद्र पांडेय पर शारीरिक शोषण करने संबंधी आनलाइन शिकायत दर्ज करायी. पुलिस ने दोनों मामले की जांच के नाम पर अब तक कोई कार्रवाई नहीं की है.
  • भाजपा के प्रदेश नेतृत्व ने शारीरिक शोषण संबंधी आरोप लगने के बाद विधायक ढुल्लू और सांसद रवींद्र पांडेय को नोटिस जारी किया है. अनुशासनात्मक कार्रवाई की चेतावनी दी है. माना जाता है कि प्रदेश नेतृत्व में ढुल्लू का प्रभाव है.

बचाव में उठाये ढुल्लू ने यह कदम

  • ढुल्लू ने अपने प्रभाव में वृद्धि के लिए ही धनबाद के जिला परिषद अध्यक्ष रोबिन गोराईं और उनकी तेजतर्रार मुखिया पत्नी अनीता गोराईं को रांची में भाजपा में शामिल कराया. यह सर्व विदित है कि ढुल्लू के कारण ही रोबिन धनबाद जिला परिषद का अध्यक्ष बन पाये.
  • इंडस्ट्रीज एंड कामर्स एसोसिएशन की बैठक में कोयला लदाई के नाम पर रंगदारी वसूली का आरोप लगाया गया तो ढुल्लू ने एसोसिएशन के अध्यक्ष बीएन सिंह के खिलाफ प्लीडर नोटिस देने की घोषणा की.
  • अपने विरोधी पूर्व विधायक ओपी लाल, पूर्व मंत्री जलेश्वर महतो, विजय कुमार झा और रणविजय सिंह पर आरोप लगाया कि यह सभी उनके खिलाफ केस करनेवाले अधिवक्ता सोमनाथ चटर्जी की हत्या करवा कर उन्हें फंसाने की कोशिश कर सकते हैं. जोगता थाना में आवेदन देकर अधिवक्ता को सुरक्षा प्रदान करने की मांग की.
  • भाजपा नेत्री कमला देवी ने विधायक ढुल्लू पर शारीरिक शोषण करने का आरोप लगाया तो अपने ऊपर लिखित सारे विरोधियों के साथ सांसद रवींद्र पांडेय पर षड्यंत्र रचने का आरोप लगाया.

कुल मिलाकर ढुल्लू महतो का कतरास क्षेत्र में पोजिशन बदला है. अब वह उस तरह स्वच्छंद नहीं दिख रहे हैं जैसा पहले था. ढुल्लू के विरोध में पहले राजनीतिक प्रतिद्वन्द्वियों के ही स्वर सुने जाते थे अब मजदूर भी विरोध में खड़े हो रहे हैं. हालांकि  ढुल्लू के विरोधियों पर हमले की अब भी शिकायतें सुनी जा रही हैं पर पार्टी के अंदर और बाहर उनके दबदबे को लगातार चुनौतियां मिल रही हैं. ढुल्लू की ताकत कम होगी, उनका दबदबा कम होगा तो उनकी हैसियत बदलेगी. ऐसा राजनीतिक प्रेक्षकों का अनुमान है.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

%d bloggers like this: