Lead NewsNationalTOP SLIDER

डीएमके मंत्री के बिगड़े बोल, कहा,लालू ने रेलवे की नौकरी में बिहारियों को भरा, कम दिमाग वाले बिहारी तमिलनाडु में भी छिन रहे हैं काम

नगर प्रशासन मंत्री केएन नेहरू ने तमिलनाडू में बाहरी लोगों के नौकरी करने पर जताया रोष

New Delhi : राजनेताओं के बोल अक्सर बिगड़ते रहते हैं. इनकी जुबान से किसी समुदाय, धर्म, जाति या अन्य के प्रति घृणा भरे बयान निकलते रहते हैं. अब ताजा मामले में तमिलनाडु के नगर प्रशासन मंत्री और डीएमके नेता केएन नेहरू ने विवादास्पद बयान दिया है. इनके बयान में बिहारियों के प्रति ईर्ष्या और घृणा साफ झलकती है.

इसे भी पढ़ें : Jharkhand की बेटी दीपिका ने Olympic पदक की ओर एक और कदम बढ़ाया, क्वार्टर फाइनल में पहुंची

स्थानीय लोगों की छिन रहे नौकरी

डीएमके नेता केएन नेहरू ने कहा है कि बिहारियों के मुकाबले तमिल लोग ज्यादा होशियार होते हैं. बिहार के लोग तमिलनाडु में आकर स्थानीय लोगों की नौकरी छिन रहे हैं यह टिप्पणी बड़ा बवाल खड़ा कर सकती है.

advt

इसे भी पढ़ें : National Corona Update: केरल व कर्नाटक की विस्फोटक स्थित से तीसरी लहर की आशंका बढ़ी

सांसद निशिकांत दुबे को बिहारी गुंडा कहने का मामला

इसके पहले बीजेपी सांसद निशिकांत दुबे ने टीएमसी सांसद महुआ मोइत्रा पर आरोप लगाया था कि उन्होंने बिहारी गुंडा कहा था. इस मामले को चर्चा तेज है ऐसे में डीएमके नेता का यह बयान बड़ी परेशानियां खड़ी कर सकता है. पेगासस कथित जासूसी कांड को लेकर बनी संसदीय समिति में शामिल भाजपा सांसद निशिकांत दुबे ने टीएमसी सांसद महुआ मोइत्रा पर उन्हें ‘बिहारी गुंडा’ कहने का आरोप लगाया था.

इसे भी पढ़ें : CBSE 12th Board Result 2021: CBSE बोर्ड आज 2 बजे जारी करेगा 12वीं का रिजल्ट, ऐसे करें चेक

रोजगार कैंप को संबोधित करते हुए दिया था विवादित बयान

डीएमके नेता का यह बयान पुराना है लेकिन इसे लेकर अब हंगामा हो रहा है 25 जुलाई को दिये अपने बयान में तिरुचिरापल्ली स्थित डीएमके कार्यालय से एक रोजगार कैंप को संबोधित कर रहे थे. यही उन्होंने कहा, बिहार और उत्तर भारत के लोग तमिलनाडु में तमिलों की नौकरियां छीन रहे. वे बिना तमिल और अंग्रेजी जाने स्थानीय बैंकों और अन्य स्थानों पर काम कर रहे हैं. बिहार के लोग तमिलों से कम समझदार होते हैं.

इसे भी पढ़ें : 12th Result: आज दो बजे सीबीएसइ और तीन बजे जारी होगा JAC 12 वीं का रिजल्ट

तमिल लोगों की तरह इनके पास दिमाग नहीं है

इस दौरान उन्होंने बिहार के राजद प्रमुख लालू प्रसाद का भी जिक्र किया और कहा कि जब वह रेल मंत्री थे तो उन्होंने रेलवे के निचले पदों पर बिहार के लोगों को सिर्फ भर दिया था. रेलवे में ज्यादातर गेटकीपर आज भी बिहार के मिलेंगे.

डीएमके नेता ने कहा यह सब लालू यादव की वजह है. ये लोग न तो तमिल जानते हैं और न ही हिंदी. तमिल लोगों की तरह इनके पास दिमाग नहीं है इन सब के बावजूद भी वो तमिलनाडु में नौकरी कर रहे हैं. उनके इस बयान पर राजनीति तेज हो सकती है.

इसे भी पढ़ें : Tokyo Olympics: क्वार्टर फाइनल मुकाबले में दीपिका हारी, सान आन विजयी

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: