JharkhandMain SliderRanchi

बाबूलाल का आरोप, उपचुनाव में झामुमो कांग्रेस के पॉलिटिकल एजेंट बन गये हैं सरकारी अफसर

  • वैचारिक तौर पर दिवालिया हुई राज्य सरकार : मरांडी

Ranchi: प्रदेश भाजपा ने हेमंत सरकार पर हमला बोला है. पार्टी विधायक दल के नेता बाबूलाल मरांडी के अनुसार यूपीए ने सांसद दीपक प्रकाश के खिलाफ राजद्रोह का केस किया है.

सोमवार को प्रेस वार्ता में पार्टी मुख्यालय में उन्होंने कहा कि वास्तव में दुमका औऱ बेरमो दोनों जगहों पर जनता एनडीए के लिये भरोसा दिखा चुकी है. ऐसे में सरकार समझ नहीं पा रही कि ऐसी स्थिति का सामना कैसे किया जाये. यही कारण है कि दीपक प्रकाश के खिलाफ केस दर्ज किया है.

दुमका में उनकी खबर छापने वाले पत्रकारों को नोटिस भेजा जा रहा है. हो सकता है कि इस खबर को पढ़ने वाले पाठकों के खिलाफ भी ऐसा हो जाये. यह सरकार के दिमागी दिवालियापन को दिखाता है. इसके अलावे सरकारी दबाव के चलते सरकारी अफसर सत्तारूढ़ दल के पॉलिटिकल एजेंट बनकर काम करे रहे हैं.

इसे भी पढ़ें – सामान्य और उग्रवादी हिंसा से जुड़े 12 मामलों में अनुकंपा के आधार पर नौकरी देने की रांची डीसी की अनुशंसा

पुलिसिया भेदभाव

बाबूलाल ने कहा कि दुमका के सुग्गापहाडी में रविवार को एक गाड़ी पकड़ी गयी. जेएमएम से जुड़े शीलू सिंह की गाड़ी से पैसा, फुटबॉल औऱ जर्सी मिली थी. गांव वालों ने उसे पकड़कर पुलिस को सौंप दिया पर अभी तक इस पर कोई कार्रवाई नहीं की गयी है. पिछले चुनाव में भी ऐसी ही घटना हुई थी.

इस पर एक्शन लेने की बजाये दीपक प्रकाश के उपर राजद्रोह केस करने और मीडिया को लेटर भेजने में उसकी रुचि रही. स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टरों के साथ मीटिंग कर रहे हैं. सरकार के स्तर से पथ निर्माण, भवन निर्माण और दूसरे विभागों पर अनावश्यक दबाव बनाया जा रहा है. ऐसे में सरकारी अफसर पॉलिटिकल एजेंट की तरह चुनाव में काम कर रहे हैं. वे सरकार की कठपुतली बन चुके हैं.

इसे भी पढ़ें – रिम्स में ट्यूटर पद पर नियुक्ति के लिए बनी नियमावली पर हाइकोर्ट में सुनवाई, सभी पक्षों को दस्तावेज पेश करने का निर्देश

दुमका और बेरमो पर जीत तय

लुइस मरांडी दुमका की बहु बेटी है. लोगों के बीच बनी रही हैं. यूपीए कैंडिडेट बसंत सोरेन लोकल वोटर नहीं हैं. उनके परिजन भी वहां के वोटर नहीं हैं. सीएम हेमंत ने जीत के बाद दुमका छोड़ दिया था. इसके अलावे प्रचार के दौरान वे दुमका के क्षेत्रों में भी नहीं घुमे.
स्टीफन मरांडी जैसे नेता इक्के दुक्के जगह पर प्रचार करते दिखे. ऐसे में लुईस का जीतना तय है. बेरमो में जयमंगल के लिये कांग्रेसी मंत्रियों के कुनबा का जुटना बताता है कि यूपीए को हार का डर है.

इसे भी पढ़ें – अब भाजपा ने दुमका में दर्ज करायी FIR, फुरकान, सुप्रियो, विनोद, श्यामल सिंह के खिलाफ की कार्रवाई की मांग

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: