JharkhandRanchi

बाबूलाल का आरोपः संताल परगना में जमीन की लूट में शामिल हैं बरहेट विधायक प्रतिनिधि पंकज मिश्रा, CBI से हो जांच    

Ranchi : भाजपा विधायक दल के नेता बाबूलाल मरांडी ने संताल परगना में जमीन के लूट का आरोप लगाया है. पार्टी कार्यालय में मंगलवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में उन्होंने कहा कि बरहेट विधायक प्रतिनिधि पंकज मिश्रा का खौफ लगातार संताल के इलाकों में बढ़ रहा है. उसके रसूख के कारण पुलिस और जिला प्रशासन के लोग भी अपने दायित्वों से भाग रहे हैं.

साहेबगंज, पाकुड़ जिलों में गरीबों की जमीन प्रशासन के साथ मिलकर लूटी जा रही है. राज्य सरकार की प्रशासनिक व्यवस्था अगर पंकज मिश्रा के मामले में फेल हो गयी है तो सरकार जमीन लूट मामले की सीबीआई जांच कराये. इसमें पैसों का अवैध लेन देन हो रहा. इन्कम टैक्स को भी इसमें जांच पड़ताल को लगाया जाये.

इसे भी पढ़ेंः दो माह पहले हुई थी शादी, नवविवाहिता ने फांसी लगाकर दी जान

गरीबों की सुनने वाला कोई नहीं

बाबूलाल मराडी ने कहा कि साहेबगंज में आतंक मचा हुआ है. इसमें कौन शामिल हैं, सबको पता है. कई गरीब लोगों की जमीन येन केन प्रकारेण लूटी, छीनी जा रही. प्रशासन के लोगों के पास मदद को जब भुक्तभोगी जाते हैं तो उल्टे उन्हें झूठे मुकदमे में फंसाने की धंमकी दी जाती है. ऐसे कई लोग उनसे मिले. रांची तक आये. जनता के साथ गलत होने पर अंततः उन्हें सामना आना पड़ा.

सरकार मामले की सीबीआई जांच कराये. वे सरकार को मजबूर करेंगे कि हर हाल में तरीके से जांच हो. जो भी दोषी हो, सजा मिले. कानून का राज स्थापित हो. बाबूलाल ने फ्री वैक्सीन के लिये पीएम को सीएम द्वारा चिट्ठी लिखे जाने पर कहा कि यह का विषय है. जो सीएम खुद कहते थे कि हम फ्री में 18 प्लस को टीका दिलायेंगे, वे अब यू टर्न ले रहे हैं.  ग्लोबल टेंडर करने की बात थी. यू टर्न लेने से मामला अब संदिग्ध लगता है.

इसे भी पढ़ेंः हेमंत ने पीएम को लिखी चिट्ठी तो रांची से दिल्ली तक गरमायी सियासत

पिंकु शुक्ला को पंकज से डर

प्रेस कॉन्फ्रेंस में भाजपा किसान मोर्चा के किसान मोर्चा के उपाध्यक्ष पिंकु शुक्ला सहित अशोक राजहंस, रीता देवी, रोहित कुमार मंडल सहित कई अन्य भी उपस्थित थे. पिंकु शुक्ला ने पंकज मिश्रा के खिलाफ पाकुड़े थाने में 27 मई को आतंकित करने और मारने जाने संबंधी केस दर्ज करायी है.

कहा कि केस दर्ज कराये जाने के बाद पंकज ने भी उनके खिलाफ केस दर्ज कराया है. अगर उन्होंने पंकज से रंगदारी मांगी होती तो विधायक प्रतिनिधि उसी दिन केस करते. पर सब मिलकर उन्हें ही फंसाने में लगे हैं. साहेबगंज के अशोक राजहंस, रीता, रोहित ने भी पंकज मिश्रा सहित अन्य पर जमीन लूटे जाने और पुलिस प्रशासन द्वारा फंसाये जाने का आरोप लगाया.

इसे भी पढ़ेंः मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन ने फेसबुक और ट्विटर को बनाया जनभागीदारी का जरिया

Related Articles

Back to top button