DhanbadJharkhandLead NewsRanchi

जज उत्तम आनंद हत्याकांड में बाबूलाल ने धनबाद SSP की भूमिका पर उठाये सवाल, कहा- बर्खास्तगी के साथ हो कार्रवाई

Ranchi: जस्टिस उत्तम आनंद की संदिग्ध हत्या को लेकर लगातार सवाल उठ रहे हैं. अब भाजपा विधायक दल के नेता और पूर्व सीएम बाबूलाल मरांडी ने इस केस में धनबाद एसएसपी संजीव कुमार को कटघरे में खड़ा किया है. सीएम हेमंत सोरेन को शनिवार को एक लेटर जारी करते हुए कहा है कि न्याय करने वाले जज उत्तम आनंद को इंसाफ दिलाना जरूरी है.

इस केस में समुचित कार्रवाई और निष्पक्ष जांच के लिये संजीव कुमार को जिले से हटाया जाये. साथ ही निलंबित करते हुए उस पर विभागीय कार्रवाई भी शुरू किया जाये.

इसे भी पढ़ें :Big Breaking: एडीजे उत्तम आनंद की मौत की सीबीआई जांच की अनुशंसा

advt

पलामू में संजीव की खराब रिपोर्ट

बाबूलाल के पत्र के मुताबिक अभी धनबाद एसएसपी के तौर पर कार्यरत संजीव कुमार पूर्व में पलामू एसपी के तौर पर सेवा दे चुके हैं. प्रतापपुर (छत्तीसगढ़) के गोपाल प्रसाद ने उनसे शुक्रवार को भेंट कर संजीव कुमार से जुड़े एक संगीन मामले की जानकारी दी थी.

बताया था कि 25 मई, 2021 को औरंगाबाद, बिहार का एक परिवार अपने बेटा, बहु से मिलकर छत्तीसगढ़ से पलामू के रास्ते औरंगाबाद लौट रहा था. कांडाघाटी, पलामू में इस परिवार की मां को छोड़कर बुजूर्ग पिता और ड्राइवर का किडनैप कर लिया गया. अपहरणकर्ताओं ने 60 लाख की डिमांड रखी थी. अंततः 10 लाख में सौदा तय हुआ.

इसे भी पढ़ें :बारिश का कहर: 24 घंटों में चार जिलों में 8 की मौत, रांची में पुल टूटा, स्वर्णरेखा में बहा युवक

पर इस केस में पुलिस वालों ने परिजनों से 10 लाख लेक अपहरणकर्ताओं को दे भी दिये और उन्हें पकड़ा भी नहीं. दो महीने हो गये हैं पर जिनका अपहरण हुआ, उन्हें छुड़ाया नहीं जा सका है. संजीव कुमार ही इस दौरान पलामू एसपी थे.

अपराधियों को बचाने में संजीव की भूमिका पूर्व से संदिग्ध रही है. इनके ट्रैक रिकॉर्ड को देखा जाये तो धनबाद जैसा जिला इनके जिम्मे किया जाना जंच नहीं रहा. अगर सरकार गंभीर हो तो सबसे पहले ऐसे लापरवाह, नकारा पुलिस अधिकारी को धनबाद से हटाया जाये.

इसे भी पढ़ें :तीरंदाजी में विश्व चैंपियन और ओलंपिक के लिए चयनित दीपिका को राज्य सरकार देगी 50 लाख

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: