Ranchi

14 साल बाद बाबूलाल मरांडी की घर वापसी, आज JVM का होगा BJP में विलय

Ranchi: झारखंड के पहले मुख्यमंत्री रहे बाबूलाल मरांडी की सोमवार को घर वापसी हो रही है. 14 सालों बाद वो भाजपा में फिर से शामिल होने जा रहे हैं.

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की मौजूदगी में बाबूलाल मरांडी के नेतृत्व वाली पार्टी जेवीएम का बीजेपी में विलय होगा.

इसे भी पढ़ेंः#BharatPetroleum के निजीकरण का रास्ता साफ, 53 फीसदी हिस्सेदारी बेचेगी सरकार

बीजेपी का मेगा शो

बाबूलाल की घर वापसी औऱ जेवीएम का बीजेपी में विलय इसे लेकर रांची में एक मेगा शो रखा गया है. इस मिलन कार्यक्रम में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और बीजेपी उपाध्यक्ष ओम माथुर मौजूद रहेंगे.

दोनों दिग्गजों की मौजूदगी में बाबूलाल मरांडी भाजपा में शामिल होंगे. बता दें कि जेवीएम अध्यक्ष बाबूलाल मरांडी ने अपनी पार्टी झारखंड विकास मोर्चा के बीजेपी में विलय होने की घोषणा पहले ही कर दी हैं. अब मरांडी 17 फरवरी को औपचारिक रूप से एक बार फिर से उसी राजनीतिक पार्टी में आ जाएंगे जहां से उन्होंने पॉलिटिक्स का ककहरा सीखा था.

कार्यक्रम को लेकर बीजेपी के उपाध्यक्ष ओम माथुर रविवार शाम को ही रांची पहुंच चुके हैं. इसके बाद उन्होंने तैयारी को लेकर प्रदेश नेताओं के साथ बैठक की. जिसमें पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास, प्रदेश के संगठन महामंत्री धर्मपाल समेत अन्य पदाधिकारी मौजूद रहे.

नेताओं ने कार्यक्रम स्थल का भी जायजा लिया. दिन के 12 बजे से शुरू होने वाले कार्यक्रम में गृह मंत्री अमित शाह हवाई अड्डे से सीधा प्रभात तारा मैदान पहुंचेंगे. कार्यक्रम लगभग डेढ़ घंटे का होगा.

इसे भी पढ़ेंः#Giridih: 15 मौतों के बाद उत्पाद विभाग रेस, कई जगह छापेमारी कर जावा महुआ किया नष्ट

बन सकते हैं नेता-प्रतिपक्ष

बाबूलाल मरांडी की घर वापसी के साथ ही झारखंड बीजेपी अपनी सियासत में आमूल-चूल बदलाव करने जा रही है. बीजेपी को झारखंड में एक अदद आदिवासी चेहरे की तलाश थी, और पार्टी की तलाश अपने ही पुराने सिपहसालार बाबूलाल मंराडी पर आकर खत्म हुई. जिसकी जड़ें संघ से जुड़ी हैं और जो झारखंड की राजनीति का जाना-माना नाम है.

ऐसे में तय माना जा रहा है कि विलय की प्रक्रिया पूरी हो जाने के बाद बाबूलाल मरांडी को विधायक दल का नेता बनाया जा सकता है. हालांकि बाबूलाल मरांडी ने बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा से मुलाकात के दौरान पार्टी के लिए काम करने और प्रदेश में घूमने की इच्छा जाहिर की है.

बता दें कि राज्य नेतृत्व से टकराव के कारण 2006 में बाबूलाल मरांडी ने बीजेपी से नाता तोड़ लिया था, और उसके बाद अलग राजनीतिक दल झारखंड विकास मोर्चा का गठन किया था. बीजेपी के 5 विधायक भी उनके साथ उनकी पार्टी में शामिल हुए.

इसे भी पढ़ेंःइस्तीफा देने के नाटक के बाद बोले इरफान,  प्रदीप यौन शोषण के आरोपी,  पार्टी में आये, तो दूंगा इस्तीफा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Back to top button