न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

सरयू राय के अल्टीमेटम पर बोले बाबूलाल, स्टीफन व धीरज- पाप का घड़ा भर गया, रघुवर सरकार को बर्खास्त करे केंद्र

2,321

Ranchi: मुख्यमंत्री रघुवर दास की कार्यशैली, व्यवहार और उनकी प्राथमिकताओं से व्यथित कैबिनेट मंत्री सरयू राय द्वारा की गयी इस्तीफे की पेशकश का समर्थन विपक्षी दलों ने किया है. विपक्षी दलों ने स्पष्ट कहा है कि रघुवर सरकार के पाप का घड़ा भर गया है. केंद्र अविलंब रघुवर सरकार को बर्खास्त करे. कैबिनेट मंत्री सरयू राय द्वारा उठाये गये मामलों से सपष्ट हो गया है कि सरकार में सबकुछ गड़बड़ चल रहा है. मंत्री ने जिन आरोपों को गिनाया है, उसकी स्वतंत्र एजेंसी से जांच होनी चाहिये.

रघुवर सरकार को अविलंब बर्खास्त करे केंद्र: बाबूलाल

पूर्व मुख्यमंत्री सह झाविमो सुप्रीमो बाबूलाल मरांडी ने इस मामले में कहा है कि सरयू राय जैसे वरिष्ठ मंत्री द्वारा उठाये जा रहे मामलों से साफ जाहिर होता है कि राज्य में गबन और घोटालों का बोलबाला है. केंद्र को अविलंब रघुवर दास को बर्खास्त करना चाहिये. हमारी पार्टी ने भी कई मुद्दों पर जांच की मांग की है. इन सभी मामलों की जांच स्वतंत्र एजेंसी से होनी चाहिये. उन्होंने कहा कि रघुवर सरकार के पाप का घड़ा भर गया है. सरयू राय पहले ही सरकार को पत्र लिखते रहे हैं. उन्होंने मुख्यमंत्री और संबंधित विभागों को भी लिखा. लेकिन सरकार सुन नहीं रही है. जब सरकार कैबिनेट मंत्री की नहीं सुन रही है तो जनता की क्या सुनेगी. यह स्पष्ट हो गया है सरकार में  सब कुछ गड़बड़ चल रहा है. रघुवर दास सत्ता में है तो मामले को दबा कर रखे हैं. उन्हें तुरंत इस्तीफा दे देना चाहिये. राज्यपाल को पहल करनी चाहिये. हमलोगों ने भी राज्यपाल को लिखकर दिया है.

hosp3

रघुवर को एक मिनट भी सत्ता में बने रहने का हक नहीं: स्टीफन

झामुमो के वरिष्ठ नेता सह विधायक स्टीफन मरांडी ने कहा कि जब कैबिनेट मंत्री सरयू राय सरकार के घोटालों को मामला उठा रहे हैं तो साफ जाहिर कि सरकार में सब कुछ गोलमाल है. साथ ही सरकार के क्रियाकलापों को भी कठघरे में खड़ा कर रहा है. ऐसे में रघुवर सरकार को सत्ता में एक मिनट भी बने रहने का हक नहीं है. केंद्र रघुवर सरकार को अविलंब बर्खास्त करे. राज्यपाल को भी अविलंब इस मामले में संज्ञान लेना चाहिये.

राज्य में घोटालों का बोलबाला: धीरज

कांग्रेस से राज्यसभा सांसद धीरज साहू ने कहा कि राज्य के कैबिनेट मंत्री सरयू राय ने जिस तरह सरकार के क्रियाकलापों और अनियमितता की बात उठायी है, उससे साफ है कि राज्य में घोटालों का बोलबाला है. इसकी पूरी तरह से निष्पक्ष जांच होनी चाहिये. चाहे कंबल घोटला हो या विधानसभा भवन निर्माण सहित अन्य मामले हों. सभी की जांच निष्पक्ष तरीके से हुई तो रघुवर दास की जगह होटवार है. रघुवर सरकार जनता के लिए  नहीं बल्कि व्यक्तिगत हित के लिए हैं.

इसे भी पढ़ेंः रघुवर की कार्यशैली, व्यवहार व प्राथमिकता से व्यथित सरयू राय 28 फरवरी को दे सकते हैं इस्तीफा

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: