Crime NewsJharkhandRanchi

कांके फायरिंग में बाल-बाल बचे बबलू मुंडा ने कहा- टीपीसी से हमारा कोई संबंध नहीं

Ranchi: रांची के कांके में फायरिंग मामले में बाल-बाल बचे चतरा जिले के टंडवा प्रखंड के उप प्रमुख बबलू मुंडा ने कहा है कि उग्रवादी संगठन टीपीसी से उनका कोई संबंध नहीं है.

मुंडा ने इस संबंध में शनिवार को प्रेस विज्ञप्ति जारी कर कहा है कि वह चतरा के टंडवा प्रखंड के उप प्रमुख पिछले 10 वर्षों से हैं. उन्होंने कहा कि मेरे प्रखंड उप प्रमुख होने से समाज के सामाजिक कार्य में हमेशा बढ़-चढ़कर योगदान रहता है. और साथ ही साथ मेरी ट्रांसपोर्टिंग कंपनी भी है, जिसका मैं डायरेक्टर हूं. मैं  कंपनी में नियमानुसार सरकार को टैक्स जमा  करता हूं.

advt

मुंडा ने विज्ञप्ति के माध्यम से बताया है कि मेरे बड़े भाई प्रेमसागर मुंडा को जमीन के बदले सीसीएल में नौकरी मिली थी. वह सीसीएल कर्मी थे. साथ ही साथ बड़े विस्थापित नेता थे और भाजपा अनुसूचित जनजाति के मंत्री थे. इसके अलावा भारत मुंडा समाज के प्रदेश अध्यक्ष थे. यह सोचने वाली बात है कि मैं बबलू कुमार मुंडा और मेरे बड़े भाई स्वर्गीय प्रेम सागर मुंडा टीपीसी सदस्य कैसे बन गए. यह जांच का विषय है मैं और मेरे भाई कभी भी टीपीसी सदस्य नहीं थे और ना ही हैं. टीपीसी से हम लोगों का कोई संबंध नहीं रहा है .हम लोग का कभी भी अपराधिक पृष्ठभूमि नहीं रहा है.  टीसीसी सदस्य वाली बात बिल्कुल गलत है. पुलिस प्रशासन और जनता को भड़काने की साजिश रची जा रही है.

बबलू मुंडा ने मांग करते हुए कहा कि मेरे बड़े भाई प्रेमसागर मुंडा की हत्या करने वाले और मुझे मेरी धर्मपत्नी मेरी दो साल की बेटी ,मेरी बहन को जान से मारने की उद्देश्य हमला करने वालों को सरकार और पुलिस प्रशासन गिरफ्तार करें और कड़ी से कड़ी सजा दे.

उल्लेखनीय है कि बीते 22 अक्टूबर को नक्सली संगठन तृतीय प्रस्तुति कमेटी (टीपीसी) ने  प्रेम सागर मुंडा हत्याकांड और बबलू सागर मुंडा पर हुए हमले में संगठन के हाथ होने से साफ इनकार किया था.

टीपीसी के सब जोनल प्रवक्ता सचिन ने इस  संबंध में प्रेस विज्ञप्ति जारी कर बताया था कि प्रेम सागर की हत्या संगठन ने नहीं की और न ही बबलू पर हमला किया गया है.

विज्ञप्ति में टीपीसी ने इस बात का जिक्र किया है कि बबलू मुंडा पर हुए जानलेवा हमले से संगठन काफी चिंतित है. मृतक प्रेम सागर मुंडा और बबलू सागर मुंडा के पिता प्रयाग मुंडा शुरू से ही टीपीसी के सक्रिय सदस्य रहे हैं और आज के दिनों में भी सक्रिय सदस्य हैं.

इसे भी पढ़ें – भाजपा कार्यसमिति की बैठक पर कांग्रेस-झामुमो का हमला, कहा- आगामी चुनाव में भी भाजपा का पूरी तरह से सफाया हो जायेगा

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: