DeogharJharkhand

सावन की आखिरी सोमवारी पर खुला बाबा बैद्यनाथ मंदिर का पट, 301 श्रद्धालुओं को मिला दर्शन का मौका

Deoghar : सावन की अंतिम सोमवारी और पूर्णिमा पर बाबा बैद्यनाथ मंदिर का पट सोमवार को खोला गया. 301 स्थानीय श्रद्धालुओं को ही इस दौरान बाबा के दर्शन का मौका मिला. सुबह 4.15 बजे बाबा मंदिर प्रशासन की निगरानी में पट खोला गया. इसके बाद सीमित संख्या में तीर्थ पुरोहितों के साथ छोटे लाल पंडा ने बाबा की पूजा अर्चना की. पूजा के बाद सीमित संख्या में श्रद्धालुओं के लिए सुबह 6.30 बजे से दोपहर 2 बजे तक मंदिर का पट खोल कर रखा गया. हालांकि मंगलवार से मंदिर में पहले की तरह बाबा मंदिर में आम श्रद्धालुओं के लिए एंट्री बंद रहेगी.

इसे भी पढ़ें – हेमंत ने कहा- झारखंड भी मनायेगा विश्व आदिवासी दिवस, सीता सोरेन ने की सार्वजनिक अवकाश की मांग

प्रशासन की कड़ी निगरानी

सुप्रीम कोर्ट और राज्य सरकार के आदेश पर ही सोमवार को मंदिर का पट खोला गया था. मंदिर में पूजा पाठ और दर्शन के दौरान जिला प्रशासन ने पूरी तैयारी कर रखी थी. इस दौरान डीसी और सुरक्षाकर्मियों द्वारा स्वास्थ्य संबंधी सभी मानकों का पालन कराया गया. मंदिर में प्रवेश के दौरान सामाजिक दूरी बनाये रखने के अलावा श्रद्धालुओं को थर्मल स्कैनर से स्कैन भी किया गया. उन्हें मास्क का उपयोग कराते हुए और सैनिटाइज्ड करते हुए फुटओवर ब्रिज के माध्यम से बाबा मंदिर में प्रवेश कराया गया. श्रद्धालुओं के बीच सामाजिक दूरी भी बनाये रखी गयी थी.

इसे भी पढ़ें – Palamu: जिले में संक्रमण के 95 नए मामले, कांग्रेस जिला अध्यक्ष की रिपोर्ट भी पॉजिटिव

adv

मंगलवार से पुराने नियम

राज्य में अभी लॉकडाउन लागू है. कोरोना संक्रमण के बढ़ते प्रभाव को देखते हुए मंगलवार से पहले की तरह बाबा मंदिर आम श्रद्धालुओं के लिए बंद रहेगा. भादो माह में मंदिर खोलने को लेकर राज्य सरकार के निर्देश पर आगे की व्यवस्था शुरू की जायेगी. मंदिर में परंपरागत प्रातः और संध्या कालीन पूजा के दौरान केवल तीर्थ पुरोहित ही शामिल होंगे. संख्या सीमित ही रहेगी. सोशल डिस्टेंसिंग और स्वास्थ्य संबंधी अन्य मानकों का पालन हर हाल में करना होगा. किसी भी स्थिति में इस पूजा में महिलाओं, बच्चों सहित किसी भी बाहरी व्यक्तियों का प्रवेश मंदिर के अंदर नहीं होगा.

इसे भी पढ़ें – झारखंड में कोरोना जांच दर : हर दस लाख लोगों में से 8837 की हो रही जांच

advt
Advertisement

5 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button