DhanbadEducation & CareerJharkhandLead NewsRanchiTOP SLIDER

आईआईटी-आईएसएम धनबाद में खाली रह गयीं 64 सीटें, जानिए क्या है वजह

अब इन सीटों के भरे जाने की कोई संभावना नहीं है...आईआईटी आईएसएम में वर्तमान सत्र में 1125 सीटें हैं

Ranchi : देश  के प्रतिष्ठित आईआईटी संस्थानों में से एक आईआईटी-आईएसएम धनबाद को भी स्टूडेंट नहीं मिले. इस साल सत्र की कल से शुरूआत हो रही है, पर सभी सीटें नहीं भरी हैं. आईआईटी आईएसएम धनबाद में सत्र 2020 में बीटेक में 64 सीटें खाली रह गयी हैं.  अब इन सीटों के भरे जाने की कोई संभावना नहीं है. बतातें चलें कि आईआईटी आईएसएम में वर्तमान सत्र में 1125 सीटें है.

इसे भी पढ़े : राज्य के इंजीनियरिंग कॉलेजों में लेटरल एंट्री के लिए दो दिसंबर तक करें आवेदन, नौ को जारी होगी फाइनल मेरिट लिस्ट

1013 स्टूडेंट्स ने ही लिया एडमिशन

आईआईटी-आईएसएम धनबाद में बीटेक के विभिन्न ब्रांच में कुल 1125 सीटें हैं. इनमें से जेईई एडवांस क्वालीफाई करने वाले 1013 स्टूडेंट्स को भी आईआईटी धनबाद पसंद आया है. इसके अतिरिक्त 48 छात्र-छात्राओं ने प्रिपएरिटी कोर्स में एडमिशन लिया है. इस कारण 64 सीटें अभी खाली हैं. ऑनलाइन एडमिशन की तिथि खत्म हो गयी है. अब तक हुए एडमिशन के संबंध में रिपोर्ट ज्वाइंट सीट एलोकेशन ऑथोरिटी (जोसा) को भेजी जायेगी. संस्थान ने 1008 छात्रों का ईमेल आईडी भी जारी कर दिया है.

इसे भी पढ़े :  चेंबर चुनाव 20 दिसंबर को, कार्यकारिणी की बैठक में लिया निर्णय

 1125 आवंटित सीटों में से 1061 ने ही लिया एडमिशन

आईआईटी आईएसएम में 1125 सीटों के लिए 1125 छात्रों को सीट आवंटित की गयी. इनमें से 1100 छात्रों ने रिपोर्ट की. 25 छात्रों ने दिलचस्पी नहीं दिखायी. इन छात्रों को सीधे संस्थान में एडमिशन का अंतिम मौका दिया गया था. 15 नवंबर से 22 नवंबर तक ऑनलाइन एडमिशन में से कुल 1125 सीटों में से 1013 छात्रों ने बीटेक और 48 ने प्रिपएरिटी कोर्स में एडमिशन लिया. 26 नवंबर को परिचय सत्र का आयोजन होगा. एक दिसंबर से नामांकित छात्रों की ऑनलाइन कक्षाएं शुरू होंगी.

इसे भी पढ़े :  निलंबित आइपीएस अधिकारी अनुराग गुप्ता पर चलेगा भ्रष्टाचार का मामला, सीएम ने प्रस्ताव पर दी सहमति

क्या होता है प्रिपएरिटी कोर्स

आईआईटी धनबाद जेईईए के चेयरमैन, प्रो आरके दास ने बताया कि नाम के मुताबिक ही यह ऐसा कोर्स होता है जिसमें छात्रों को  बीटेक की पढ़ाई के लिए पहले एक साल तैयार किया जाता है. इस कोर्स के तहत एससी-एसटी छात्रों को एक साल पढ़ाई के बाद सीधे बीटेक में एडमिशन दिया जाता है.

धनबाद, भुवनेश्वर, भिलाई, खड़गपुर के प्रिपएरिटी कोर्स के छात्रों का नामांकन इस बार आईआईटी खड़गपुर में हुआ है. चारों आईआईटी के प्रिपएरिटी कोर्स के छात्रों की पढ़ाई इस बार खड़गपुर में हो रही है. एक साल की पढ़ाई के बाद ये छात्र बीटेक की पढ़ाई के लिए धनबाद समेत अपने-अपने संस्थान में रिपोर्ट करेंगे.

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: