न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

आजम के बयान पर सपा में दो रायः अखिलेश ने किया बचाव, छोटी बहू अपर्णा भड़की

698

Lucknow: सपा नेता आजम खान के बयान पर देश में बवाल मचा है. जया प्रदा पर की गई टिप्पणी को लेकर जहां हर पार्टी उनकी निंदा कर रही है.

वहीं अखिलेश यादव ने आजम खान का बचाव किया है. जाहिर है जब अखिलेश ही बचाव में उचरे हैं, तो कार्रवाई की बात बेमानी है.

दूसरी ओर, मुलायम सिंह यादव की छोटी बहू अपर्णा यादव ने आजम खान पर निशाना साधते हुए बयान पर कड़ी आपत्ति दर्ज कराई है.

hosp3

इसे भी पढ़ेंःआजम खान और मेनका गांधी के प्रचार करने पर भी चुनाव आयोग ने लगायी पाबंदी

एसपी के टिकट पर 2017 विधानसभा चुनाव लड़ चुकीं अपर्णा ने कहा कि आजम के खिलाफ सख्त कार्रवाई होनी चाहिए. महिलाओं के खिलाफ ऐसी भाषा का इस्तेमाल करने वाले शख्स के खिलाफ कड़ी कार्रवाई हो, फिर भले ही उसका पद जो भी हो.

क्या कहा अपर्णा यादव ने

अपर्णा ने टाइम्स ऑफ इंडिया से बात करते हुए कहा, ‘आजम खान एक वरिष्ठ और दिग्गज नेता हैं, मैं उनका पूरा सम्मान करती हूं. उन्होंने जो बयान दिया है वह दुर्भाग्यपूर्ण है और गैरजरूरी था. राजनीतिक विरोधी के खिलाफ ऐसी भाषा का इस्तेमाल करना सही नहीं है.’

उन्होंने कहा, ‘मुझे नहीं पता कि उन्होंने ऐसा बयान क्यों दिया और ऐसी क्या वजह थी कि उन्हें ये शब्द इस्तेमाल करने पड़े. आजम के बयान पर वहां मौजूद लोग तालियां बजा रहे थे. राजनीति का यह स्तर देखकर हैरानी होती है.’

इसे भी पढ़ेंःचुनाव आयोग के बैन के बाद अब हनुमान जी की शरण में योगी, पढ़ा चालीसा

आजम के अभद्र बयान के समय मंच पर अखिलेश की मौजदूगी पर अपर्णा ने कहा कि मुझे उम्मीद है अखिलेश यादव आजम के बयान का संज्ञान लेंगे. उन्होंने कहा, ‘अखिलेशजी महिलाओं को लेकर हमेशा से बेहद संवेदनशील रहे हैं. मुझे उम्मीद है वह आजम से बात करेंगे.’

आजम के बचाव में उतरे अखिलेश

इससे पहले बयान पर मचे बवाल के बीच सोमवार को मुरादाबाद में सपा अध्यक्ष ने एक जनसभा को संबोधित किया. इस दौरान वो आजम खान का बचाव करते हुए नजर आये.

उन्होंने कहा कि आजम ने आरएसएस की वेशभूषा के बारे में बात की थी, उनका इशारा जया प्रदा नहीं बल्कि अमर सिंह की तरफ था. उन्होंने कहा, ‘हम समाजवादी लोग हैं, हम किसी के बारे में और किसी महिला के बारे में तो बिल्कुल भी गलत नहीं बोल सकते.’

आयोग ने लगाया है 72 घंटे का बैन

समाजवादी पार्टी भले ही आजम खान के बयान पर उनका बचाव कर रही हो. लेकिन चुनाव प्रचार के दौरान नेताओं के विवादित बयानों पर सुप्रीम कोर्ट की फटकार के बाद चुनाव आयोग सख्त नजर आ रहा है.

आयोग ने यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को 72 घंटे, बीएसपी प्रमुख मायावती को 48 घंटे, बीजेपी नेता मेनका गांधी को 48 घंटे और एसपी नेता आजम खान को 72 घंटे तक प्रचार करने से रोक दिया है. जो आज से लागू है.

इसे भी पढ़ेंःBJP ने रवि किशन को गोरखपुर और प्रवीण निषाद को संत कबीर नगर से बनाया प्रत्याशी

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: