न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

आयुष्मान भारत योजना में सहिया कर रही है दलाली, कार्ड के लिए 30 रुपये वसूली का आरोप

252

Ranchi/Dumka: प्रधाननमंत्री की महत्‍वाकांक्षी योजना आयुष्मान भारत भी दलालों के हत्थे चढ़ता जा रहा है. गरीब और भोले-भाले ग्रामीणों को दलाल अपने चंगुल में फांसने का कोई भी मौका नहीं छोड़ रहे हैं. दुमका के बुढियारी क्षेत्र में ऐसा ही एक मामला सामने आया है. यहां की एक स्वास्थ्य सहिया ही योजना में दलाली करने पर उतर आयी है. भगमती हांसदा नाम की यह स्वास्थ्य सहिया आयुष्मान भारत योजना में बीमा कार्ड देने के बदले प्रत्येक लाभुक से 30 रुपये वसूली कर रही है. जब गांव के लोगों को मालूम चला कि यह सुविधा नि:शुल्क है, तब ग्रामीण इसका विरोध करने लगे. इसके बाद मामले की शिकायत प्रखंड विकास पदाधिकारी से की गयी. बीडीओ ने ग्रामीणों से अविलंब कार्रवाई करने का आश्वासन दिया.

इसे भी पढ़ें – राज्य में आईएएस अफसरों का टोटा, पहले से 43 कम, 2019 तक रिटायर हो जायेंगे 27 और अफसर

पहले भी लग चुके हैं आरोप, मुख्यमंत्री जनसवांद में भी शिकायत

hosp1

ग्रामीण सुरेंद्र राणा ने बताया कि स्वास्थ्य सहिया पहले भी ग्रामीणों से किसी भी तरह की काम के बदले पैसे वसूलती रही है. आयुष्मान भारत योजना के तहत पैसे लेने की शिकायत मुख्यमंत्री जनसंवाद में भी किया गया था. लेकिन, वहां स्वास्थ्य सहिया वीडियो रिकार्डिंग दिखाकर बच गयी. इस वीडियों में सहिया ने ग्रामीण महिलाओं से यह कहलवाया था कार्ड के बदले उसने एक भी पैसा नहीं लिया है. ग्रामीण महिलायों ने भी कार्ड मिलने की उम्मीद में वीडियों में यह बोल दिया था. इसके बाद उस सहिया की हिम्मत और बढ़ गयी. अब वह प्रत्येक परिवार से एक कार्ड के बदले में 30 रुपए लेती है.

इसे भी पढ़ें – रघुवर सरकार ने माओवादी व टीपीसी को धन मुहैया कराने वाले रघुराम रेड्डी के खिलाफ नहीं की कार्रवाई

तीन पदों पर कार्यरत है सहिया

श्री राणा ने बताया कि यह स्वास्थ्य सहिया तीन पदों पर कार्यरत है और तीनों पदों से मानदेय ले रही है. वह स्कूल संयोजिका, रसोईया, और स्वास्थ्य सहिया के रुप में काम कर रही है. लेकिन, इस पर कोई कार्रवाई नहीं  हो रहा. ग्रामीण अब इस सहिया से आक्रोशित हो चुके हैं. अंतत: परेशान होकर सभी ग्रामीण ने बैठक कर सहिया के खिलाफ शिकायत करने का निर्णय लिया.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: