HEALTHJharkhandLead NewsRanchi

आयुष्मान कार्ड है फिर भी इलाज का बना दिया 3 लाख 36 हजार का बिल

Ranchi: राजधानी रांची में एक दिन पहले ही राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण (एनएचए) के सीइओ डॉ आरएस शर्मा आयुष्मान भारत योजना का जायजा लेने के लिए पहुंचे थे. उन्होंने रांची में इलाज के मॉडल को बेहतर बताया था, लेकिन सिटी के भगवान महावीर मेडिका हॉस्पिटल में ही मरीज को इलाज कराने के लिए आयुष्मान योजना का लाभ नहीं मिल पाया. इतना ही नहीं 4 दिनों में इलाज का बिल 3 लाख 36 हजार रुपए का बना दिया गया है. जबकि मरीज का आयुष्मान कार्ड भी था. अब परिजन हॉस्पिटल प्रबंधन से बिल में राहत देने की मांग कर रहे हैं. फिलहाल मरीज का इलाज जेनरल वार्ड में चल रहा है.

इसे भी पढ़ें :महंगाईः तीसरे दिन भी पेट्रोल व डीजल की कीमत में वृद्धि, झारखंड के गढ़वा में पेट्रोल 103 रुपये के पार

advt

14 अक्टूबर को कराया था एडमिट

14 अक्टूबर को पेटरवार में एक्सीडेंट के बाद कुंदन कुमार को मेडिका हॉस्पिटल में एडमिट कराया गया था. उसे पेट में चोट लगी थी. इसके बाद हॉस्पिटल में इलाज शुरू किया गया. परिजनों ने इलाज से पहले आयुष्मान कार्ड भी दिखाया. साथ ही राशन कार्ड भी दिखाया गया, लेकिन हॉस्पिटल वालों ने आयुष्मान से इलाज नहीं करने की बात कही. उन्होंने मरीज के परिजनों से कहा कि इलाज के लिए बिल का भुगतान करना होगा. अबतक 4 लाख रुपए का बिल परिजनों को दिया जा चुका है.

इस मामले में मेडिका हॉस्पिटल के मेडिकल एडवाइजर आनंद श्रीवास्तव ने कहा कि हॉस्पिटल का टाइअप बीमारियों के हिसाब से होता है. हमारे यहां रोड एक्सीडेंट के मरीजों के इलाज को लेकर आयुष्मान योजना के तहत टाईअप नहीं है. इसलिए मरीज का इलाज जेनरल मरीजों की तरह किया जा रहा है.

इसे भी पढ़ें : बिरसानगर में छात्रा ने लगाई फांसी, कारणों की जांच कर रही है  पुलिस

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: