Khas-KhabarNational

अयोध्याः राम मंदिर भूमि पूजन की तैयारी जोरों पर, 175 प्रतिष्ठित अतिथि होंगे शामिल

Ayodhaya: अयोध्या में राम मंदिर के भूमि पूजन की तैयारी जोरों से चल रही है. कार्यक्रम को लेकर अयोध्या को सजाया गया है. वहीं सुरक्षा के भी कड़े इंतजाम किये गये हैं. वहीं कोरोना को लेकर जारी गाइडलाइन का भी सख्ती से पालन किया जा रहा है.

5 अगस्त को होनेवाले मुख्य कार्यक्रम और पूजन के लिए मेहमान मंगलवार को ही पहुंच जायेंगे. भूमि पूजन से पहले मंगलवार को अयोध्या में विशेष पूजा की जा रही है. हनुमानगढ़ी में विशेष आराधना हो रही है. 5 अगस्त को होनेवाले भूमि पूजन कार्यक्रम में 175 गणमान्य लोगों को निमंत्रण दिया गया है.

इसे भी पढ़ेंःबंगाल: 4 सांसदों समेत 21 भाजपा नेताओं के TMC में जाने की खबर पर सियासी घमासान, भाजपा का इनकार

advt

175 गणमान्य लोगों को निमंत्रण

श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने बताया कि अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए होने वाले भूमि पूजन कार्यक्रम के लिए 175 प्रतिष्ठित अतिथियों को आमंत्रित किया गया है. ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने संवाददाताओं से कहा कि निमंत्रण सूची भाजपा के वरिष्ठ नेताओं लाल कृष्ण आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी के अलावा वरिष्ठ वकील के परासरन एवं अन्य गणमान्य व्यक्तियों के साथ निजी तौर पर चर्चा करके तैयार की गई है.

उन्होंने कहा कि मुख्य समारोह के लिए आमंत्रित किए गए 175 प्रतिष्ठित अतिथियों में से 135 संत हैं जो विभिन्न आध्यात्मिक परंपराओं से जुड़े हुए हैं और वे सभी उपस्थित रहेंगे. इनके अलावा शहर के भी कुछ गणमान्य व्यक्तियों को आमंत्रित किया गया है.

इसे भी पढ़ेंःघटिया राजनीति कर रहे बाबूलाल, कोरोना काल में एक-एक सिपाही लड़ रहा जंग, अभी अंगरक्षक मांगना सही नहीं : राजेश ठाकुर

इकबाल अंसारी, मोहन भागवत समेत कई होंगे मेहमान

श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की ओर से पहला आमंत्रण इकबाल अंसारी को दिया गया है, जो सुप्रीम कोर्ट में बाबरी मस्जिद की ओर से पक्षकार थे. बता दें कि इकबाल अंसारी प्रधानमंत्री मोदी का स्वागत भी करेंगे. साथ ही आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत को विशिष्ट अतिथि के तौर पर बुलाया गया है.

adv

महासचिव चंपत राय ने कहा कि विहिप के दिवंगत नेता अशोक सिंघल के भतीजे सलिल सिंघल कार्यक्रम में यजमान होंगे. साथ ही नेपाल के संतों को भी आमंत्रित किया गया है क्योंकि जनकपुर का बिहार, उत्तर प्रदेश और अयोध्या से भी संबंध है. उन्होंने कहा कि राज्य सरकार एक डाक टिकट भी जारी करेगी जो मंदिर की डिजाइन पर आधारित है. राय के मुताबिक, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी परिसर में ‘पारिजात’ का पौधा भी लगाएंगे.

बता दें कि बुधवार को दोपहर 12 बजे के करीब भूमि पूजन का कार्यक्रम होगा. वहीं मेहमान मंगलवार को ही अयोध्या पहुंच जायेंगे. सुरक्षा कारणों से मंगलवार शाम से अयोध्या की सीमाएं भी सील कर दी जायेंगी.

इसे भी पढ़ेंः3 अगस्त को 602 नये कोरोना पॉजिटिव केस, 3 मौतें, झारखंड में हुए 13484 मामले

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button