NationalUttar-Pradesh

अयोध्या : राम मंदिर के लिए चार लाख गांवों के 11 करोड़ परिवार करेंगे आर्थिक सहायता, ट्रस्ट ने जारी किया दिशा-निर्देश 

देश के 11 करोड़ परिवारों से संपर्क कर प्रति व्यक्ति न्यूनतम दस रुपये व प्रति परिवार एक सौ रुपये की सहायता राशि जमा की जायेगी.

NewDelhi : रामजन्मभूमि में विराजमान रामलला के मंदिर निर्माण के लिए धन संग्रह की योजना तैयार है. इसे लेकर ट्रस्ट ने दिशा-निर्देश  जारी किये हैं. खबर है कि में देश के चार लाख गांवों के 11 करोड़ परिवारों से संपर्क कर प्रति व्यक्ति न्यूनतम दस रुपये व प्रति परिवार एक सौ रुपये की सहायता राशि जमा की जायेगी. जान लें कि रामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की तैयारियां युद्धस्तर पर चल रही हैं.

Jharkhand Rai

बता दें कि विहिप के केन्द्रीय मार्ग दर्शक मंडल की बैठक में तय किया जा चुका है कि यह अभियान 15 जनवरी से 27 फरवरी 2021 तक चलेगा. इसी अभियान में देश के चार लाख गांवों के 11 करोड़ परिवारों से सम्पर्क किया जायेगा.

इसे भी पढ़े :  कोरोना सक्रमण : भारत में फिर लॉकडाउन की आहट! देश के कई शहरों में नाइट कर्फ्यू…जयपुर में धारा 144 लागू

ट्रस्ट ने दानदाताओं के लिए फोल्डर तैयार किया

खबर है कि रामजन्मभूमि ट्रस्ट ने दानदाताओं के लिए फोल्डर तैयार कर लिया है. इस फोल्डर में राम मंदिर मॉडल का चित्र और उसके साथ ही मंदिर का आकार-प्रकार भी दिया गया है. इस फोल्डर में दर्ज मंदिर की मुख्य विशेषताएं शीर्षक में जानकारी दी गयी है कि कुल क्षेत्रफल 2.7 एकड़ है.

Samford

मंदिर निर्मित क्षेत्र 54,400 वर्ग फुट, कुल लंबाई 360 फुट, कुल चौड़ाई 235 फुट, शिखर सहित कुल ऊंचाई 161 फुट, कुल तल तीन, भूतल के स्तम्भों की संख्या 160, प्रथम तल के स्तम्भों की संख्या 132 व द्वितीय तल में स्तम्भों की संख्या 74 बताई गयी है.

इसे भी पढ़े : SENSEX TOP 10 में से पांच कंपनियों का बाजार पूंजीकरण 1.07 लाख करोड़ रुपये माइनस

 67.3 एकड़ की महायोजना

फोल्डर में राम मंदिर के अलावा 67.3 एकड़ की महायोजना में प्रस्तावित विकास कार्यक्रम के बारे में भी जानकारी दी गयी है.   परिसर में संग्रहालय, ग्रंथालय,  360 डिग्री रंगभूमि, यज्ञशाला, सम्मेलन केंद्र, सत्संग भवन, धर्मशाला, अभिलेखागार,  अतिथि भवन, अनुसंधान केंद्र, प्रशासनिक भवन, आवासीय परिसर, प्रदर्शनी व तीर्थयात्री सुविधाएं शामिल हैं. पार्किंग व संगीत फौव्वारे की भी योजना का प्रस्ताव किया गया है.

इसे भी पढ़े : आयुर्वेद के डॉक्टर कर सकेंगे 58 तरह की सर्जरी, नोटिफिकेशन जारी आईएमए को आपत्ति 

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: