National

अयोध्या मामला: मध्यस्थता पैनल ने अंतरिम रिपोर्ट सौंपी, पांच जजों की पीठ शुक्रवार को करेगी सुनवाई

New Delhi: अयोध्या भूमि विवाद पर तीन सदस्यीय मध्यस्थता समिति ने उच्चतम न्यायालय को सीलबंद लिफाफे में अंतरिम रिपोर्ट सौंप दी है. लोकसभा चुनाव के बीच सुप्रीम कोर्ट में शुक्रवार को अयोध्या मामले की सुनवाई होगी. 8 मार्च को  मध्यस्थता प्रक्रिया के आदेश के बाद पहली बार सुप्रीम कोर्ट में राजनीतिक रूप से संवेदनशील इस मामले की सुनवाई होगी. इससे संबंधित एक नोटिस सुप्रीम कोर्ट की वेबसाइट पर भी डाली गयी है. उसमें कहा गया है कि पांच जजों- चीफ जस्टिस रंजन गोगोई, जस्टिस एसए बोबडे, डीवाई चंद्रचूड़, अशोक भूषण और एस. अब्दुल नजीर की संवैधानिक बेंच मामले की सुनवाई करेगी.

इसे भी पढ़ें – दल-बदल मामलाः हाइकोर्ट ने जानकी यादव, अमर बाउरी, गणेश गंजू व नवीन जायसवाल को 10 मई को उपस्थित होने को कहा

सुप्रीम कोर्ट ने मध्यस्थता पैनल के पास भेजा था मामला

Catalyst IAS
ram janam hospital

मार्च में सुप्रीम कोर्ट के पांच जजों की संवैधानिक बेंच ने राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद जमीन विवाद को सर्वमान्य समाधान के लिए मध्यस्थता के लिए भेजा था. कोर्ट ने 3 सदस्यीय पैनल भी गठित किया था. इस समिति में सुप्रीम कोर्ट के रिटायर्ड जज जस्टिस एफएम कलीफुल्ला के अलावा आध्यात्मिक गुरु श्रीश्री रविशंकर और वरिष्ठ वकील श्रीराम पंचू शामिल थे. पैनल को बंद कमरे में सुनवाई करने और इसे 8 हफ्ते के भीतर पूरा करने को कहा गया था. कोर्ट ने अपने फैसले में फैजाबाद में ही मध्यस्थता को लेकर बातचीत करने के भी निर्देश दिये थे. साथ ही जब तक बातचीत का सिलसिला चलेगा, पूरी बात गोपनीय रखने को कहा गया था. सुप्रीम कोर्ट के निर्देश के मुताबिक पैनल में शामिल किसी भी सदस्य या संबंधित पक्ष ने कोई जानकारी शेयर नहीं की है. ऐसे में अब सबकी नजरें शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट पर रहेंगी.

The Royal’s
Sanjeevani

इसे भी पढ़ें – राजनीतिक बयानबाजी में अब टैक्सी की इंट्री, कांग्रेस ने कहा, मोदी ने तो वायुसेना के जेट को ही टैक्सी बना लिया  

Related Articles

Back to top button