Business

#AutoSector : BS-IV वाहनों पर GST दर कम होने की संभावना, GST काउसिंल की बैठक 20 को

NewDelhi :  गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स (GST) काउसिंल की 20 सितंबर को गोवा में होने वाली बैठक में ऑटो सेक्टर को राहत देने के लिए जीएसटी में कटौती का फैसला हो सकता है. सूत्रों के अनुसार जीएसटी काउंसिल की बैठक में सिर्फ BS-IV गाड़ियों पर जीएसटी रेट्स में कटौती हो सकती है. BS-IV गाड़ियों पर GST 28 फीसदी से घटकर 18 फीसदी हो सकती है.
खबरों के अनुसार  सरकार के सामने दुविधा यह है कि ऑटो सेक्टर को राहत देने के लिए क्या GST में कटौती की जाये?. अगर सारे सेगमेंट पर कटौती की जाती है तो सालाना 50,000 करोड़ रुपये का नुकसान होगा. वहीं सरकार यह भी चाहती है राजस्व का नुकसान भी न हो, तो इसके लिए सरकार बीच का रास्ता अपना सकती है.

यानी  सिर्फ और सिर्फ BS-IV गाड़ियों पर जीएसटी की दरें घटाई जाये. BS-IV गाड़ियों पर जीएसटी की दरें घटाकर 18 फीसदी पर किया जाये.  इस प्रस्ताव पर गंभीरता से विचार किया जा रहा है.

इसे भी पढ़ें – बैंकों के विलय के खिलाफ चार #TradeUnions की देशव्यापी हड़ताल 26-27 सितंबर को

advt

 BS-IV गाड़ियां सिर्फ 31 मार्च 2020 तक बेचने की छूट

अगर सिर्फ BS-IV गाड़ियों पर ही जीएसटी की दर घटती है, तो यह जीएसटी दरों में कटौती हमेशा के लिए नहीं होगी. यह सिर्फ 31 मार्च 2020 तक के लिए GST कटौती करनी पड़ेगी क्योंकि BS-IV गाड़ियां सिर्फ 31 मार्च 2020 तक बेचने की छूट है. इसका फायदा यह होगा कि इसका नुकसान हमेशा के लिए नहीं होगा. यह नुकसान अभी से लेकर 6 महीने तक होगा.

इसे भी पढ़ें – चुनाव से पहले हेमंत का आदिवासी कार्डः बीजेपी में आदिवासी नेताओं की अनदेखी का लगाया आरोप

गाड़ियों के पार्ट्स पर जीएसटी घटने की संभावना

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण की पिछले दिनों ऑटो सेक्टर के प्रतिनिधियों से  जब मुलाकात हुई थी तब गाड़ियों के पार्ट्स पर जीएसटी घटाने पर गंभीरता से विचार किया गया था. इस विकल्प पर वित्त मंत्रालय के भीतर भी राजस्व विभाग के अधिकारियों के बीच चर्चा हुई है.

हो सकता है कि जीएसटी काउंसिल की बैठक में सरकार इस पर हरी झंडी दे दे,  ताकि इससे ऑटो सेक्टर को राहत मिल जायेगी और सरकारी खजाने पर भी ज्यादा बोझ नहीं पड़ेगा.

adv

इसे भी पढ़ें – झारखंड के डीसी IAS Code of Conduct के खिलाफ जाकर चला रहे हैं #jharkhandwithmodi कैंपेन

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button