Crime NewsLead News

ऑटोमोबाइल डीलर ने फोटोशॉप के जरिये शातिराना अंदाज में लगाया चूना, लाभुक को पता भी नहीं चला और ईएमआइ हो गयी शुरू

Ranchi : एक ऐसा ऑटोमोबाइल डीलर जालसाजी का ऐसा तरीका निकाला जिसे देख पुलिस भी हैरान है. डीलर ने फोटोशॉप के जरिये शातिराना अंदाज से कई लोगों को चूना लगाया है.

डीलर ने ऐसी तरकीब निकाली कि बैंक से लाभुक के नाम पर लोन पास हो गया और उसे पता तक नहीं चला. साथ ही उसकी ईएमआइ भी शुरू हो गयी. जब जानकारी हुई तो बैंक में भी हड़कंप मच गया.

राजधानी रांची के पिठोरिया थाना क्षेत्र में विनीता ऑटोमोबाइल के डीलर के द्वारा कुछ एक या दो नहीं बल्कि अबतक 8 ऑटो की डिलीवरी कर दी गयी, लेकिन ऑटो लाभुक को नहीं मिला.

इसे भी पढ़ें: न्याय की आस में 11 साल से दर-दर भटक रहे हैं 80 साल के सुरेश भदानी

इसके अलावा उसके नाम पर लोन चढ़ गया. लोगों को चूना लगानेवाला डीलर रवि रंजन अब बिहार के बक्सर भागने की फिराक में था, जहां उसने अपना नया शोरूम खोला था. हालांकि समय रहते उसे बैंक के द्वारा पकड़ा गया और पुलिस के हवाले किया गया.

मामले की जानकारी देते हुए ग्रामीण एसपी नौशाद अलाम ने बताया कि रवि रंजन द्वारा गाड़ियों की डिलिवरी की गयी और उसमें उसके द्वारा फोटो भी बैंक में सबमिट किया गया, जिसमें ग्राहक को ऑटो डिलिवर करते दिखाया गया.

हालांकि ग्राहक को ऑटो डिलिवर भी नहीं किया गया. वहीं उन्होंने बताया कि फोटोशॉप की मदद से रवि रंजन ग्राहक की फोटो तैयार करता था. वही उन्होंने बताया कि अबतक करीब 8 गाड़ियों को फर्जी तरीके से दूसरे लोगों को डिलिवर की गयी है.

वहीं पूरे मामले में ग्राहकों ने बताया कि उन्हें इसकी जानकारी भी नहीं थी कि उनकी गाड़ी डिलिवर हो चुकी है और उनका लोन अकाउंट भी खुल चुका है. ग्राहक वरुण ने बताया कि रवि रंजन द्वारा उन्हें फोन कर बैंक को झूठ बोलने को कहा गया.

इसे भी पढ़ें: सांसद निशिकांत दुबे की पत्नी अनामिका गौतम की क्वैशिंग याचिका पर सुनवाई, सभी पक्षों को जवाब देने का निर्देश

जिसके बाद वो बैंक पहुंचे तो उन्हें जानकारी हुई कि उनका ऑटो उन्हें डिलिवर हो चुका है और एक ईएमआइ की किश्त भी उनके द्वारा भरी जा चुकी है.

वहीं एक अन्य लाभुक की तो 2 ईएमआइ भरी जा चुकी थी और उन्हें इस बात की कोई भी जानकारी नहीं थी. बैंक के अनुसार ये किश्त डीलर के द्वारा फिलहाल भरी गयी थी.

पूरे मामले की पेचीदगी को देखते हुए पिठोरिया थाने पुलिस को बुलाया गया और आरोपी को पुलिस के हवाले किया गया है. फिलहाल पुलिस मामले के अनुसंधान में जुट मामले की सत्यता की जांच में जुटी है.

इसे भी पढ़ें: धान खरीदारी में किसानों की शिकायत पहुंची सीएम तक, मिला आश्वासन

Related Articles

Back to top button