न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

शहर में लगेंगे ऑटोमेटिक नंबर प्लेट रीडर कैमरे, 25 स्थानों पर फेस रिकग्निशन कैमरों से की जायेगी मॉनिटरिंग

56

Ranchi : शहर में ट्रैफिक नियमों को तोड़नेवालों को पकड़ने के लिए प्रशासन पूरे शहर के हर ट्रैफिक सिग्नल पर ऑटोमेटिक नंबर प्लेट रीडर लगवा रही है. इससे यातायात नियमों को तोड़नेवालों की गाड़ी का नंबर डिटेक्ट कर उनके घर जुर्माने का चालान भेज दिया जायेगा. साथ ही बस स्टैंड, रेलवे स्टेशन सहित पूरे शहर के पच्चीस स्थानों पर फेस रिकग्निशन कैमरा लगाया जायेगा, जिससे शहर में आनेवाले संदिग्ध लोगों को पहचानने में मदद मिलेगी. मंगलवार को विकास भवन में आयोजित मीडिया संवाद के दौरान रांची के एसएसपी अनीश गुप्ता ने यह जानकारी दी. रांची एसडीओ ने बताया कि पहाड़ी मंदीर के लिए ट्रैजरर की जरूरत है, इस कमी को जल्द ही पूरा कर लिया जायेगा. इस दौरान उपायुक्त रांची ने बताया कि आयुष्मान भारत योजना के लिए डीसी ऑफिस में स्पेशल कोषांग की स्थापना की जायेगी.

इसे भी पढ़ें- एनोस के खिलाफ ईडी की एक और कार्रवाईः पाकरडांड में 170 डिसमिल जमीन हुई सीज

तालाबों में एनडीआरएफ की टीम के साथ बोट की सुविधा उपलब्ध रहेगी

छठ पूजा और दिवाली में शहर में सुरक्षा की पूरी तरह से चाक-चौबंद व्यवस्था की जायेगी. रांची के कांके डैम, धुर्वा डैम, बड़ा तालाब और चडरी तालाब में एनडीआरएफ की टीम बोट के साथ मौजूद रहेगी. इसके अलावा जिला प्रशासन दवारा 100 सिविल डिफेंस कार्यकर्ताओं को यूनिफॉर्म दिया जायेगा, साथ ही एनडीआरएफ की टीम उन्हें ट्रेनिंग देगी. डीसी राय महिमापत रे ने बताया कि चार चयनित स्थानों के अलावा पटाखों की बिक्री करनेवालों पर सख्त कार्रवाई की जायेगी. शहर से बाहरी इलाकों में दुकानों में पटाखे बेचे जा सकेंगे.

इसे भी पढ़ें- राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष ने दिल्ली से रेस्क्यू कर रांची लायी गयी लड़की से की मुलाकात

स्मोक फ्री रांची बनाने के लिए चलाया जायेगा कैंपेन

रांची एसडीओ गरिमा सिंह ने बताया कि अधिकारियों के साथ मीटिंग करके टोबैको रूल बनाया जायेगा, जिसके बाद रांची को स्मोक फ्री बनाने के लिए स्मोक फ्री कैंपेन चलायेंगे. साथ ही, मनरेगा के तहत आंगनबाड़ियों का चयन कर चाइल्ड फ्रेंडली टॉयलेट का निर्माण कराया जायेगा. गरिमा सिंह ने बताया कि दिवाली के दौरान मिठाइयों की क्वालिटी की जांच की जायेगी. जिन रेस्तरां की स्पेशल जांच की गयी थी, उनके पांच में से चार स्पेशल सबस्टैंडर्ड पाये गये हैं, उन दोनों को 20 दिन का समय दिया गया है. एसएसपी अनीश गुप्ता ने बताया कि स्पीडी ट्रायल के 99 केस में से 72 मामलों में सजा हुई है, जो पूरे राज्य में सबसे ज्यादा है. वहीं, डीसी ने बताया कि आनेवाले सत्र में सरकारी स्कूलों की स्कूल यूनिफॉर्म अब जेएसएलपीएस दवारा बनाये गये एसएचजी द्वारा बनायी जायेगी. इसके अलावा छह नवंबर को अनगड़ा में विकास मेला का आयोजन किया जायेगा, इस दौरान जिले के हर टोले में विद्युतीकरण का काम पूरा हो जायेगा.

इसे भी पढ़ें- चतरा पत्रकार हत्याकांड : राजनीतिक पार्टियों ने की मांग- हत्यारों को गिरफ्तार करो, पत्रकारों की…

महिलाओं की सेफटी को देखते हुए ही किया गया था हल्का बल प्रयोग

रसोइया संघ पर सोमवार रात को हुए लाठीचार्ज पर डीसी ने कहा कि महिलाओं की सेफटी को देखते हुए हल्का बल प्रयोग किया गया था. ऐसा इसलिए, क्योंकि रात को यहां भारी वाहन का परिचालन होता है, अगर कोई महिला सड़क पर लेटी रहती और गाड़ी से हानि हो जाती. प्रशासन किसी को भी अपनी जान से खेलने की इजाजत नहीं देता.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: