DhanbadJharkhand

ऑटो चालकों ने झरिया में किया प्रदर्शन, लॉकडाउन तक प्रतिमाह 10 हजार रुपये देने और ऑटो परिचालन शुरू करने की मांग

Dhanbad : सीटू आज पूरे देश में 50वां स्थापना दिवस मना रहा है. इस मौके पर शनिवार को सीटू और मजदूर परिवहन यूनियन के बैनर तले ऑटो चालकों ने झरिया के बाटा मोड़ में तख्तियां लेकर प्रदर्शन किया. इस दौरान उन्होंने राज्य सरकार से कई मांगें की.

उन्होंने कहा कि लॉकडाउन तक प्रतिमाह सरकार हमलोगों को 10 हजार रुपये दे. साथ ही ईएमआई, परमिट,  इंश्योरेंस के लेट फाइन को माफ करने सहित ऑटो परिचालन शुरू करने की भी मांग की गयी.

इसे भी पढ़ेंः 30 जून तक बढ़ा लॉकडाउन, कंटेनमेंट जोन छोड़ कर खुलेंगे रेस्तरां, धर्मस्थल, होटल

advt

कोरोना संक्रमण को रोकने में विफल साबित हुई है मोदी सरकार : शिव बालक पासवान

इस मौके पर सीटू के वरिष्ठ नेता शिव बालक पासवान ने मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि भारत में कोरोना संक्रमण को रोक पाने में मोदी सरकार विफल साबित हुई है. उन्होंने कहा कि जब पहला केस मिला था उस समय से ही मोदी सरकार को कदम उठाने चाहिए था.

आज मजदूर जिस तरह से दूसरे प्रदेशों से आ रहे हैं, वह काफी दुखद है. उन्होंने कहा कि मजदूरों, ऑटो चालकों, रिक्शा – ठेला चालकों सहित गरीब छोटे – छोटे व्यापारियों को मदद देनी चाहिए.

इसे भी पढ़ेंः #Corona: जमशेदपुर से 27, हजारीबाग व सिमडेगा से 4-4, गढ़वा व खूंटी से 2-2, पलामू व गुमला से 1-1 नये कोरोना पॉजिटिव, झारखंड का आंकड़ा 563

पैसे की कमी के कारण बच्चों को नहीं पढ़ा पा रहे

वहीं ऑटो चालकों ने अपनी मांगों को रखते हुए कहा कि परिवार में लोग बीमार हैं. हालत इतनी खराब हो गयी है कि घरों में जो बीमार हैं उनकी दवाएं तक नहीं आ रही हैं. बच्चों की पढ़ाई बंद है.

adv

इस मौके पर एक ड्राइवर ने अपने दो बच्चों का सर्टिफिकेट दिखाते हुए कहा कि मेरे दोनों बच्चे पढ़ाई में अव्वल आते हैं लेकिन लॉकडाउन के कारण पैसे की कमी हो गयी है. पैसों की कमी के कारण वे बच्चों को पढ़ा नहीं पा रहे हैं. इसलिए सरकार से मदद की गुहार लगा रहे हैं.

ऑटो चालकों के लिए नहीं जारी किया गया है कोई दिशा – निर्देश

बता दें कि धनबाद में ऑटो चालक संघ द्वारा कई दिनों से धनबाद उपायुक्त और राज्य सरकार से मांग की जा रही है लेकिन राज्य सरकार या जिला प्रशासन ने ऑटो चालक के लिए कोई दिशा निर्देश जारी नहीं किया है.

जिसे लेकर ऑटो चालकों ने 21 मई के बाद सड़क पर ऑटो लेकर उतरने की बात कही है. उन्होंने कहा कि सरकार नियम बनाये. उस नियम के तहत हमलोग ऑटो चलाएंगे ताकि जो दयनीय स्थिति उत्पन्न हुई है उससे राहत मिल सके.

इसे भी पढ़ेंः भारत में ‘ग्रेट डिप्रेशन’ यानी महान मंदी शुरू हो चुकी है

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button