न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

सड़क दुर्घटनाओं में मौत का सिलसिला जारी, गैस टैंकर से टक्कर में ऑटो चालक की मौके पर मौत

लगातार तीसरे दिन तीन की मौत, 11 दिनों में 13 लोगों की जान गयी

107

Dhanbad: कोयलांचल में सड़क हादसों का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा, ना ही इसमें होनेवाली मौत का. गुरुवार को फिर एकबार धनबाद में हादसा हुआ. लगातार तीसरे दिन हुए हादसे में निरसा थाना अन्तर्गत कंचनडीह मोड़ के समीप गैस टैंकर और ऑटो के बीच जोरदार टक्कर हो गई. जिसमें ऑटो चालक की मौत घटना स्थल पर ही हो गई.

इसे भी पढ़ेंःलाल’ होती झारखंड की सड़कें: रोड एक्सीडेंट में बढ़ोतरी, पिछले एक…

कैसे घटी घटना

घटनास्थल पर जमा लोगों की भीड़

गुरुवार की सुबह ऑटो चालक मोहन कर्मकार (29) अपने घर मुगमा से ऑटो लेकर निरसा की ओर निकला. कंचनडीह मोड़ के समीप वह ऑटो घुमा रहा था तभी निरसा की ओर से आते इंडेन गैस टैंकर संख्या (एन एल 01एल/0838) की चपेट में आ गया. टक्कर इतनी जोरदार थी कि ऑटो पूरी तरह क्षतिग्रस्त हो गया और ऑटो चालक का शरीर टैंकर के चक्कों मे फंसकर घटना स्थल से लगभग 20 फुट दूरी तक घसीटाता हुआ चला गया. जिससे उसकी मौत घटनास्थल पर ही हो गई. इधर हादसे के बाद वहां लोगों की भीड़ लग गई.

एक दिन पहले हुआ मां का देहांत

स्थानीय लोगों ने बताया कि ऑटो चालक मुगमा एरिया ऑफ़िस के पास का रहनेवाला था. उसने एक माह पूर्व ही यह ऑटो खरीदा था. परिवार पर उनकी मौत से बहुत बड़ी दुख की घड़ी आई है क्योंकि कल ही उसकी मां का देहांत हुआ था. और आज बेटे की भी मौत हो गई. इस घटना के बाद मृतक के परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल है.

इसे भी पढ़ेंःजानिए पाकुड़ के नक्सली कुणाल मुर्मू एनकाउंटर का पूरा सच, जिसपर अब डीसी उठा रहे हैं सवाल

इधर घटना के बाद टैंकर चालक टैंकर छोड़ कर फरार हो गया. घटना की खबर सुनते ही निरसा थानेदार सह इंस्पेक्टर सुषमा कुमारी घटना स्थल पहुंची और मामले की जानकारी ली. मुखिया बिमल रवानी और संजय महतो भी घटना स्थल पर पहुंचे और निष्पक्ष जांच की मांग की. पीड़ित परिवार को उचित मुआवजा दिलाने का आग्रह किया. प्रभारी श्रीमती सुषमा ने निष्पक्ष जांच के साथ उचित मदद दिलाने का आश्वासन दिया और शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया.

इसे भी पढ़ेंःCM के पास IFS अफसरों के लिए समय नहीं, झारखंड में एक्सपोजर नहीं-हो…

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: