NEWSWING
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पुलिस के संरक्षण में हर चौक-चौराहे पर ऑटो से एजेंट कर रहे अवैध वसूली!

440

Saurav Singh
Ranchi : राजधानी रांची में ट्रैफिक व्यवस्था दुरुस्त करने के नाम पर रोड पर अवैध वसूली हो रही है. अवैध वसूली भी ऐसी-वैसी नहीं, बल्कि नगर निगम से परमिशन लेकर उसके नाम पर हर चौक-चौराहे पर ऑटो वालों से 10-10 रुपये वसूले जा रहे हैं. कई स्थानों पर महासंघ के नाम पर पांच-पांच रुपये की वसूली हो रही है. गौरतलब है कि रांची में ट्रैफिक पुलिस के चार थाने हैं. ऑटो चालकों और स्थानीय लोगों के अनुसार वसूली के लिए इन थानों की ओर से दो दलालों को ठेका दिया गया है. इनके नाम लालू और रंजीत हैं. इन दोनों के लोग शहर के विभिन्न चौक-चौराहों पर तैनात रहते हैं और परमिट और बिना परमिट के ऑटो चालकों से वसूली करते हैं. इसके बाद लालू और रंजीत वसूली की रकम अलग-अलग थानों में पहुंचाते हैं, जहां उसका बंटवारा होता है.

इसे भी पढ़ें- पांचवीं अनुसूची वाले इलाकों में नगर निगम, नगरपालिका, नगर परिषद के हुए चुनाव असंवैधानिक तो नहीं!

हर महीने एक से डेढ़ करोड़ की वसूली!

ऑटो से अवैध वसूली की सूचना निगम के अधिकारी से लेकर पुलिस अधिकारी तक को है. फिर भी आज तक अवैध वसूली पर रोक नहीं लग सकी है. वसूली से जुड़े लोगों की मानें, तो हर माह 1 करोड़ से 1.50 करोड़ रुपये का धंधा है. इसमें सबकी हिस्सेदारी रहती है, इसलिए कोई रोक-टोक नहीं होती. मालूम हो कि ऑटो से वसूली को लेकर कई हत्याएं भी हो चुकी हैं. फिर भी प्रशासन इस व्यवस्था को बंद नहीं करा सका है.

पब्लिक होती है इससे परेशान

आमतौर पर किसी भी स्थान से रेलवे स्टेशन जाने के लिए ऑटो चालक तैयार नहीं होते हैं. ऐसा इसलिए, क्योंकि स्टेशन के बाहर पहुंचते ही चालकों से पैसा वसूला जाता है. वहीं, स्टेशन से दूसरे रूट में जानेवाले ऑटो से भी वसूली होती है. ऑटो चालक यह रकम किराये के रूप में पब्लिक से ही वसूल करते हैं. कई रूटों पर ऑटो से वसूली होने के चलते लोगों को आने-जाने में अनावश्यक देर होती है.

इसे भी पढ़ें- पुलिस का था जवान, बर्खास्त हुआ तो बन गया साइबर क्राइम का मास्टरमाइंड

रातू रोड में बीच रोड पर लेते हैं पैसे

किशोरी यादव चौक के पास गुड्डू वर्मा नामक युवक पिस्का मोड़ रूट के ऑटो को रोककर वसूली कर रहा था. हर ऑटो से दस रुपये लेने के बाद ऑटो चालक को रसीद भी नहीं दी जा रही थी. पूछने पर गुड्डू वर्मा ने बताया, ‘‘लगभग एक हजार ऑटो से पैसा वसूला जाता है. मैं पैसा कलेक्ट कर शाम में दे देता हूं. इस रूट पर दुर्गा मंदिर के पास ऑटो स्टैंड बंदोबस्त किया गया है, लेकिन बीच रोड में वसूली होती है.

पैसे नहीं मिलने पर देते हैं गाली

अरगोड़ा चौक पर ठेकेदार का माफिया राज चलता है. ठेकेदार के लड़के दीपक, संदीप और अजय अरगोड़ा चौक के चारों ओर आने-जानेवाले ऑटो से रोजाना वसूली करते हैं. यानी, रोड पर भी ऑटो रुका, तो ठेकेदार के लड़के पैसा लेने के लिए लपक पड़ते हैं. यहां के एक ऑटो चालक धीरज ने बताया कि 10 रुपये नहीं देने पर ठेकेदार के लोग गाली-गलौज करते हैं, इसलिए पैसा देना मजबूरी है.

madhuranjan_add

जाकिर हुसैन पार्क के पास हर ऑटो से लेते हैं 15 रुपये

जाकिर हुसैन पार्क के पास रोजाना कचहरी, कांके रोड और बूटी मोड़ रूट के हर ऑटो से 15 रुपये की वसूली होती है. रिंकू नामक युवक यहां पर ऑटो चालकों से पैसा वसूलता है. इस टिकट पर झारखंड प्रदेश डीजल ऑटो चालक संघ का नाम रहता है. यहां के ऑटो चालक श्याम ने बताया कि संघ के नाम पर पांच रुपये और देखरेख के नाम पर 10 रुपये अर्जुन नामक व्यक्ति वसूलता है.

इसे भी पढ़ें- पलामू : पांच हजार घूस लेते पंचायत सेवक को ACB ने किया गिरफ्तार

यहां भी होती है वसूली

-सर्कुलर रोड में जेल चौक और ईस्ट जेल चौक पर हर ऑटो से 10 रुपये की वसूली होती है.
-कांटाटोली चौक पर हर ऑटो से पैसे वसूले जाते हैं.
-आईटीआई बस स्टैंड के पास स्टैंड का ठेकेदार पैसा वसूलता है.
-रांची और हटिया स्टेशन के पास भी ऑटो से 20 से 30 रुपये तक की वसूली की जा रही है.

इसे भी पढ़ें- विधायक ढुल्लू महतो ने आउटसोर्सिंग कंपनी के अधिकारी को दी धमकी ! ऑडियो वायरल

बाहर से आये वाहनों से भी होती है वसूली

बाहर से आये वाहनों से शहर के विभिन्न चौक-चौराहों पर तैनात पुलिस के जवान भी अवैध वसूली करते हैं. जैसे ही किसी दूसरे जिले या राज्य के वाहन का नंबर देखते हैं, उसे रोक देते हैं. फिर ड्राइविंग लाइसेंस, ओनर बुक, इंश्योरेंस, यहां तक कि प्रदूषण आदि की जांच के नाम पर भी चालकों को परेशान किया जाता है. हजारों रुपये की मांग की जाती है और 500 से 1000 रुपये लेकर ही छोड़ा जाता है. कम पढ़े-लिखे या ग्रामीण इलाके से आये बाइक सवारों से भी ट्रैफिक पुलिस वसूली करती है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Averon

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: