न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

ऑस्ट्रेलिया ओपन में भारत का प्रतिनिधित्व करेंगे 10 ‘बाल किड’

15

New Delhi : साल के पहले ग्रैंडस्लैम टेनिस टूर्नामेंट आस्ट्रेलिया ओपन 2019 में 10 ‘बाल किड’ भारत का प्रतिनिधित्व करेंगे. दुनिया की आठवीं सबसे बड़ी कार निर्माता कंपनी किया मोटर्स ने दिग्गज खिलाड़ी और भारतीय डेविस कप कप्तान महेश भूपति के मार्गदर्शन में इन बच्चों का चयन किया है. कंपनी इन बच्चों के आस्ट्रेलिया दौरे का पूरा खर्च उठाएगी.

हमें टेनिस में कारपोरेट सहयोग की जरूरत

बाल किड वे बच्चे होते हैं जो टेनिस मैच के दौरान खिलाड़ियों के अंक बनाने के बाद गेंद उठाते हैं और उन्हें गेंद भी देते हैं. वह खिलाड़ियों को पानी, तौलिया देने जैसी जरूरतों का भी ध्यान रखते हैं. इस कार्यक्रम में किया मोटर्स के सहयोग की सराहना करते हुए भूपति ने कहा, हमें टेनिस में कारपोरेट सहयोग की जरूरत है. मुझे लगता है कि किया काफी अच्छा काम रह रही है. खेलों से जुड़ना उनकी वैश्विक रणनीति का हिस्सा है.

अगले साल इसका दायरा और अधिक बढ़ाया जाएगा

उन्होंने कहा, इस साल लगभग 1800 बच्चों के बीच से हमने इन बच्चों को चुना है और उम्मीद करते हैं कि अगले साल इसका दायरा और अधिक बढ़ाया जाएगा.  नयी दिल्ली के डीएलटीए कोर्ट में देश के विभिन्न हिस्सों से चुने गए 100 बच्चों के बीच से सार्थक गांधी, एम वर्सित कुमार रेड्डी, नमन मेहता, अंकित पिलानिया, अक्षित चौधरी, सोहम दिवान, रिभव ओझा, स्वाति मल्होत्रा, जेनिका जेसन और अनन्या सिंह को आस्ट्रेलिया ओपन के लिए बाल किड के रूप में चुना गया. इससे पहले कभी भारत से इतने सारे खिलाड़ियों को आस्ट्रेलिया ओपन में बाल किड के रूप में नहीं चुना गया.

10 में से नौ बच्चे टेनिस खेलते हैं, उनके लिए रोमांचक सफर 

भूपति ने कहा, ‘‘यह इन बच्चों के लिए काफी रोमांचक होने वाला है. जान मैकेनरो, आंद्रे अगासी, रामनाथन कृष्णन जैसे खिलाड़ियों ने बाल किड के रूप में शुरुआत की और बाद में दिग्गज खिलाड़ी बने. रफेल नडाल जैसे खिलाड़ियों को देखना इनके लिए रोमांचक होगा. 10 में से नौ बच्चे टेनिस खेलते हैं और उनके लिए यह रोमांचक सफर होगा. इस दौरान किया मोटर्स इंडिया के प्रबंध निदेशक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी कूकह्युन शिम, कार्यकारी निदेशक और मुख्य रणनीतिक अधिकारी योंग एस किम और मार्केटिंग एवं सेल्स प्रमुख मनोहर भट भी मौजूद थे.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: