न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

आस्ट्रेलिया ने इंग्लैंड को हराकर विश्व टी-20 खिताब जीता

16

North Sound (Antigua and Barbuda) : स्पिनरों के फिरकी के जादू के बाद बल्लेबाजों के उम्दा प्रदर्शन से आस्ट्रेलिया ने यहां सर विवियन रिचर्ड्स स्टेडियम में एकतरफा फाइनल में इंग्लैंड को आठ विकेट से हराकर चौथी बार महिला विश्व टी20 खिताब जीत लिया. लगातार पांचवीं बार फाइनल में खेल रहे आस्ट्रेलिया ने आफ स्पिनर एशलेग गार्डनर (22 रन पर तीन विकेट) और लेग स्पिनर जार्जिया वेयरहैम (11 रन पर दो विकेट) की बदौलत इंग्लैंड को 19 . 4 ओवर में 105 रन पर ढेर कर दिया.

मेगान शुट ने भी 13 रन देकर दो विकेट चटकाए

आस्ट्रेलिया ने इसके जवाब में 44 रन तक दोनों सलामी बल्लेबाजों एलिसा हीली (22) और बेथ मूनी (14) के विकेट गंवा दिए थे लेकिन गार्डनर (नाबाद 33) और कप्तान मेग लेनिंग (नाबाद 28) के बीच तीसरे विकेट की 62 रन की अटूट साझेदारी की बदौलत 15 . 1 ओवर में ही टीम ने दो विकेट पर 106 रन बनाकर आसान जीत दर्ज की. गार्डनर को उनके आलराउंडर प्रदर्शन के लिए प्लेयर आफ द मैच चुना गया जबकि विकेटकीपर बल्लेबाज एलिसा को प्लेयर आफ द टूर्नामेंट चुना गया. एलिसा ने टूर्नामेंट में सर्वाधिक 225 रन बनाने के अलावा चार स्टंपिंग और चार कैच से आठ शिकार भी किए. टूर्नामेंट में उनसे अधिक शिकार सिर्फ भारत की तानिया भाटिया ही कर सकी जिन्होंने दो कैच और नौ स्टंपिंग से 11 शिकार किए.

इंग्लैंड अगली विश्व चैंपियनिशप का इंतजार करना होगा

आस्ट्रेलिया को कभी किसी महिला विश्व क्रिकेट चैंपियनशिप के फाइनल में इंग्लैंड के खिलाफ शिकस्त का सामना नहीं करना पड़ा है और यहां भी यह रिकार्ड बरकार रहा है. इंग्लैंड को इस क्रम को तोड़ने के लिए अब कम से कम 2020 में होने वाली अगली विश्व चैंपियनिशप का इंतजार करना होगा. सर विवियन रिचर्ड्स स्टेडियम में खेल गया यह फाइनल 2014 में बांग्लादेश के मीरपुर में खेले गए विश्व टी20 फाइनल की काफी हद तक पुनरावृत्ति रहा. मीरपुर में भी इंग्लैंड की टीम पहले बल्लेबाजी करते हुए निर्धारित 20 ओवर में आठ विकेट पर 105 रन ही बना सकी थी और तब भी आस्ट्रेलिया ने 15 .1 ओवर में चार विकेट पर 106 रन बनाकर जीत दर्ज की थी.

आस्ट्रेलिया के गेंदबाजों का टिककर सामना कर सकीं

इससे पहले इंग्लैंड की ओर से सलामी बल्लेबाज डेनियल वाट (43) और कप्तान हीथर नाइट (25) ही आस्ट्रेलिया के गेंदबाजों का टिककर सामना कर सकीं. डेनियल और हीथर के अलावा इंग्लैंड की और कोई बल्लेबाज दोहरे अंक तक नहीं पहुंच पाई जिससे इंग्लैंड का दूसरी बार विश्व टी20 खिताब जीतने का सपना टूट गया. इंग्लैंड ने 2009 में अपनी सरजमीं पर हुए पहले महिला विश्व टी20 का खिताब फाइनल में न्यूजीलैंड को हराकर जीता था.

इसे भी पढ़ें : जीत की पटरी पर लौटना चाहेगा जमशेदपुर एफसी

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: