BiharCrime News

औरंगाबाद : हार्डकोर माओवादी महाराणा प्रताप रंजन गिरफ्तार

Aurangabad :  जिले में माओवादियों के खिलाफ चलाये जा रहे विशेष अभियान के तहत केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के एफ-47 बटालियन और मदनपुर पुलिस ने संयुक्त कार्रवाई में हार्डकोर माओवादी महाराणा प्रताप रंजन उर्फ राणा रंजन को गिरफ्तार किया है.

पुलिस कप्तान कांतेश कुमार मिश्रा ने बताया कि भाकपा माओवादी के हार्डकोर दस्ते के सदस्य राणा रंजन को गुप्त सूचना पर नक्सलियों की मांद कहे जानेवाले स्थान लंगुराही की ओर जाने दौरान उमगा मंदिर के पास बादम की ओर जाते वक्त गिरफ्तार किया गया.

इसे भी पढ़ें – T20 World Cup 2021: मुकाबले से पहले पाकिस्तानी खेमे में राहुल और पंत का खौफ, कोच मैथ्यू हेडन बोले-बाबर आजम दबाव में

advt

पकड़े गये नक्सली की उम्र मात्र 19 साल 8 माह है और वह कासमा थाना के गम्हरिया गांव का निवासी है. पूछताछ में गिरफ्तार नक्सली ने पुलिस को बताया कि उसके जन्म के पहले से ही उसके परिवार की मजबूत नक्सल पृष्ठभूमि रही है. उसके दादा जगदीश यादव उर्फ जगदीश मास्टर भाकपा माओवादी के पूर्व पोलित ब्यूरो सदस्य हैं तथा 2011 में गिरफ्तारी से पूर्व आंध्रप्रदेश, छत्तीसगढ़, झारखंड और बिहार में कई घटनाओं में शामिल रहे हैं. वर्तमान में जेल से जमानत पर छूटने के बाद अपने घर पर रह रहे हैं. वे नियमित रूप से अपने मिलने वालों को नक्सल गतिविधियों के बारे में जानकारी देते हैं.

उसके बड़े चाचा वीरेंद्र यादव उर्फ सौरभ जी उर्फ मरकस जी भी संगठन में ओहदेदार हैं तथा वर्तमान में झारखंड में काम कर रहे है. वीरेंद्र यादव उर्फ सौरभ जी पर झारखंड सरकार ने 25 लाख का इनाम घोषित कर रखा है.

adv

महाराणा ने स्वीकार किया कि उसके दादा जगदीश यादव उर्फ जगदीश मास्टर उस पर नक्सली दस्ता में शामिल होने के लिए बार बार दबाव बनाते रहे हैं. दादा के दबाव में ही वह फरवरी 2021 से ही नक्सली जोनल कमांडर संजीत भुईयां उर्फ सागर जी से संपर्क में है तथा कई बार फोन उससे बात की है तथा लंगुराही जाकर भी मुलाकात किया था. वहां संजीत ने उसे माओवादी संगठन में शामिल होने को कहा. तब वह संगठन में शामिल हो गया. उसी समय से वह पार्टी का काम कर रहा था.

इसे भी पढ़ें – JSSPS के 5 कैडेटों के लिए खुली खेलो इंडिया की राह, गुवाहाटी में मिलेगा हुनर निखारने का शानदार मौका

 

 

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: