Khas-KhabarNational

औरैया हादसाः शवों के साथ ट्रक में घायल मजदूरों को यूपी सरकार ने भेजा, झारखंड सीएम के ट्वीट के बाद हरकत में आया प्रशासन

Prayagraj: लॉकडाउन में देश के मजदूरों की दुर्दशा खुलकर सामने आयी है. जीते जी तो इन्हें परेशानी हो ही रही है. मरने के बाद भी प्रशासन को उनके बदसलूकी से कोई गुरेज नहीं दिखता. सिस्टम की संवेदनहीनता की पराकाष्ठा यूपी में नजर आयी. जहां शनिवार को औरैया हादसे में मारे गये झारखंड के मजदूरों के शव को एक ट्रक में डालकर भेजा गया.

इसे भी पढ़ेंःमहाराष्ट्रः 24 घंटे में कोविड-19 के 2347 नये मरीज, संक्रमण का टूटा रिकॉड, आंकड़ा 33 हजार के पार

advt

इतना ही नहीं उसी ट्रक में घायल मजदूरों को भी बिठा दिया गया. ना घायलों का कोविड टेस्ट हुआ, ना खाने-पीने की कोई व्यवस्था. ऊपर से शव से आती दुर्गंध उन्हें और बीमार बना रही थी. लेकिन यूपी प्रशासन को इसकी कोई फिक्र नहीं थी. लेकिन झारखंड सीएम हेमंत सोरेन के ट्वीट के बाद प्रशासन की नींद टूटी और शवों को शव वाहन से भेजे गये.

सीएम के ट्वीट के बाद टूटी नींद

मामले की जानकारी जब झारखंड सीएम हेमंत सोरेन को हुई, तो उन्होंने इस मामले पर ट्वीट किया. पूरी घटना को अमानवीय और अत्यंत संवेदनहीन बताया, तब जाकर यूपी प्रशासन हरकत में आया.

शवों से आ रही तेज़ दुर्गंध के बीच साथ बिठाए गए घायलों की तस्वीर को जब झारखंड के सीएम हेमंत सोरेन ने ट्वीट करते हुए अपने राज्य के अफसरों को शवों और घायलों को सम्मान देने को कहा तब जाकर यूपी का सरकारी अमला हरकत में आया. और आनन-फानन में शवों को शव वाहन में शिफ्ट किया गया.

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, ट्रकों को प्रयागराज में दिल्ली-हावड़ा नेशनल हाइवे पर रोका गया. उसके अलावे दो और ट्रकों को जिनपर शव थे एनएच-2 पर रोका गया. पूरे हाइवे को छावनी में तब्दील कर दिया गया और एक तरफ के रास्ते के ब्लॉक कर दिया गया. ताकि मामले को दबाया जा सके.

इसे भी पढ़ेंः#Palamu: महाराष्ट्र से लौटे अधेड़ की कोरोना जांच के लिए ले जाने के दौरान मौत, 2 घंटे सड़क पर तड़पता रहा

घंटों के इंतजार के बाद वहां ऐंबुलेंस और शव वाहन पहुंचे. शवों को उसमें शिफ्ट करके भेजा गया. एबीपी की रिपोर्ट के अनुसार, ‘एक ट्रक के ड्राइवर ने बताया कि शवों से इतनी तेज दुर्गंध आ रही थी कि आगे भी बैठना मुश्किल हो रहा था.’

झारखंड सरकार ने दिया 4-4 लाख का मुआवजा

खबर है कि करीब 17 शवों को 3 ट्रकों में भरकर झारखंड के बोकारो और पश्चिम बंगाल भेजा जा रहा था. इनमें से 12 शव झारखंड भेजे जाने थे. वही औरैया हादसे में मरने वालों का आंकड़ा 25 हो गया है. हादसे में मारे गये झारखंड के मजदूरों के लिए हेमंत सरकार ने 4-4 लाख के मुआवजे और घायलों के लिए 50 हजार रुपये देने की बात कही है.

बता दें कि 16 मई (शनिवार) को औरैया में मजदूरों से भरे दो ट्रक देर रात 2:45 बजे नैशनल हाईवे पर टकरा गए. इसमें 25 मजदूरों की मौत हो गई थी, जबकि 40 घायल हुए.

इसे भी पढ़ेंः#WestBengal: 12 घंटे में राज्य के विभिन्न हिस्सों में चक्रवाती तूफान की आशंका, एनडीआरएफ तैनात

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: