न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

सरकार की शह पर हुआ स्वामी अग्निवेश पर हमला, 21 को प्रोटेस्ट मार्च : सहाय

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सुबोधकांत सहाय ने स्वामी अग्निवेश पर हुए हमले को सरकारी शह पर सुनियोजित तरीके से किया गया हमला बताया है

337

Ranchi : कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सुबोधकांत सहाय ने स्वामी अग्निवेश पर हुए हमले को सरकारी शह पर सुनियोजित तरीके से किया गया हमला बताया है. यूथ कांग्रेस के कार्यकर्ताओं पर पुलिस द्वारा किये गये जानलेवा हमले को कायरना हरकत बताते हुए कहा कि इन सभी घटना के विरोध में 21 जुलाई को विपक्ष सहित विभिन्न सामाजिक संगठनों द्वारा  प्रोटेस्ट मार्च निकला जायेगा. वहीं पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी ने इस हमले को एक तरह से कानून पर किया गया हमला बताया है.

इसे भी पढ़ें- भूमि अधिग्रहण कानून : बीजेपी ने बताया कैसे संभव है संशोधन

शनिवार को निकाला जायेगा प्रोटेस्ट मार्च

बिहार क्लब में गुरुवार को आयोजित प्रेस वार्ता में पूर्व केंद्रीय मंत्री सुबोधकांत सहाय ने कहा कि स्वामी अग्निवेश पर हमला एक सामाजिक संगठन पर हमला है, क्योंकि वे किसी राजनीतिक दल से जुड़े आदमी नहीं है. घटना को सरकार की शह पर सुनियोजित तरीके से किया गया हमला बताते हुए उन्होंने कहा कि इसके विरोध में  शनिवार 21 जुलाई को प्रोटेस्ट मार्च मोरहबादी स्थित गांधी स्टैच्यू से राजभवन तक निकाला जायेगा. विपक्ष सहित कई सामाजिक संगठन विरोध मार्च में शामिल होंगे.

इसे भी पढ़ें- मानसून सत्र बार-बार बाधित करना, लोकतंत्र के साथ खिलवाड़ : भाजपा एसटी मोर्चा

राजभवन को दी जायेगी मॉब लिंचिंग की सूची

उन्होंने कहा कि राज्य में अबतक जितनी भी मॉब लिंचिग की घटनाएं हुई है, इसे लेकर एक सूची राजभवन में दी जायेगी. यह सूची सुप्रीम कोर्ट के निर्देशानुसार ही पेश होगी. स्वामी अग्निवेश पर हुए हमले को मॉब लिंचिंग की घटना करार देते हुए कहा कि पहले बार किसी हिंदू संत पर ऐसा हमला किया गया है. इससे पहले भी कई महिलाओं को डायन बता मॉब लिंचिंग की घटना की जा चुकी है. देखा जाये तो यह हमला वैसे लोगों पर किया जा रहा है, जो राज्य के आदिवासी और मूलवासी से जुड़े मुद्दे पर आवाज उठाते रहे हैं.

इसे भी पढ़ेंःघोषणा कर भूल गयी सरकारः 19 जुलाई- ना शेट्टी जी आये सदर अस्पताल चलाने, ना हर अनुमंडल में बना पॉलिटेक्निक कॉलेज

यह हमला एक तरह से कानून पर हमला :  बाबूलाल मरांडी

पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी ने कहा कि पाकुुड़ में स्वामी अग्निवेश पर जिस तरह से हमला किया गया है, वो एकतरह से कानून पर किया गया हमला है. विपक्ष और सभी सामाजिक संगठनों को एकजुट होकर विरोध करने की अपील करते हुए बाबूलाल ने कहा कि भविष्य में इस तरह की घटना न हो, इसके लिए ही आज यहां विभिन्न पार्टी और सामाजिक संगठन के लोग उपस्थित हुए है. सरकार को सख्त लहजे में चेतावनी देते हुए कहा कि जब तक संबंधित अपराधियों को गिरफ्तार नहीं कर लिया जाता है, तबतक हमारा विरोध जारी रहेगा.

निष्पक्ष तरीके से हो जांच

उन्होंने कहा कि राज्य में पहाड़िया जनजाति के लोग लुप्त होने की कगार पर है. सरकार तो उन्हें बचाने के लिए कोई पहल कर नहीं रही है, लेकिन ऐसा व्यक्ति जो दिल्ली से आकर इन जनजातियों की आवाज बन रहा है, उस पर भी सत्ता में बैठे लोग हमला करा रहे हैं. सरकार को चाहिए कि इस मामले में निष्पक्ष जांच करे, अन्यथा विपक्ष का विरोध प्रदर्शन अंतिम न्याय मिलने तक जारी रहेगा.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: