न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

फेसबुक पोस्ट को लेकर गुजरात के वडोदरा में 200-300 लोगों ने दलित दंपति पर हमला किया, 11 पर एफआइआर

5,086

Vadodara: गुजरात के वडोदरा में एक फेसबुक पोस्ट के कारण एक दलित दंपति के घर पर हमला करने का मामला सामने आया है. वडोदरा के पाद्रा तालुका में स्थित महुवड गांव में रहनेवाले इस दंपति के घर पर कथित तौर पर उच्च जाति के 200-300 लोगों ने हमला किया. दलित युवक ने फेसबुक पोस्ट में कथित तौर पर लिखा था कि सरकार दलितों की शादी के लिए गांव के मंदिर का दलितों द्वारा इस्तेमाल करने की मंजूरी नहीं देती.

इसे भी पढ़ें – जानें वो पांच वजहें जिनसे ढहा दिशोम गुरु का अभेद्य किला

11 लोगों पर एफआइआर

पुलिस ने 11 लोगों के खिलाफ एफआइआर दर्ज की है. जिस दलित युवक ने फेसबुक पोस्ट की थी, उसके खिलाफ भी विभिन्न समुदायों के बीच दुश्मनी बढ़ाने के लिए मामला दर्ज किया गया है. 46 वर्षीय तारुलताबेन मकवाना नाम की महिला ने भीड़ द्वारा घर पर हमला करने, पथराव करने, पति प्रवीण मकवाना की पिटाई करने और धमकाने को लेकर वाडु पुलिस स्टेशन में 11 लोगों और अज्ञात लोगों की भीड़ के ख़िलाफ़ 23 मई को एफआइआर दर्ज करायी है.

एफआईआर में चैतन्य सिंह झाला, मयूर सिंह झाला, महेश जाधव, दिलीप सिंह राजपूत, संजय सिंह परमार, अर्जुन परमार, नरेश परमार, अरविंद परमार, दिलीप परमार, किशन परमार और अजय परमार के नाम शामिल हैं. ये सभी माहुवड के रहनेवाले हैं.

इसे भी पढ़ें – झारखंड की सभी जेलें जुड़ेंगी ई-मुलाकात पोर्टल से, जेल में बंद कैदियों से मुलाकात करने में होगी आसानी

क्या है एफआइआर में

Related Posts

अमित शाह ने चुनावी रैली में कहा, पंडित नेहरू ने संघर्ष विराम नहीं कराया होता, तो #POK का अस्तित्व नहीं होता

कश्मीर में कोई अशांति नहीं है और आने वाले दिनों में आतंकवाद समाप्त हो जायेगा.

महिला ने कहा कि छड़ी, डंडे, पाइप और अन्य हथियार से लैस लोग उनके घर पर पहुंचे और गालियां देनी शुरू कर दीं. जैसे ही वह घर से बाहर निकलीं, लोगों ने थप्पड़ मारे. इसके बाद भीड़ उनके घर में घुसी और उनके पति प्रवीण को खींच कर घर से बाहर निकाला और उनकी पिटाई कर दी. महिला ने कहा कि लोगों ने मेरे पति को धमकी देते हुए कहा कि यदि उन्होंने अपनी फेसबुक पोस्ट डिलीट नहीं की तो इसका खामियाजा भुगतना पड़ेगा.

इसे भी पढ़ें – राष्ट्रपति ने 16वीं लोकसभा भंग की, मोदी आज सरकार बनाने का दावा कर सकते हैं पेश

घटना 20 मई की हैः पुलिस

पुलिस ने कहा कि यह घटना 20 मई की है, लेकिन दोनों समुदायों के बीच समझौता नहीं होने के बाद महिला ने गुरुवार को पुलिस में शिकायत दर्ज करायी. पुलिस ने आइपीसी की धारा 143, 147, 149, 452, 336, 323, 504, 506 और अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति की संबद्ध धाराओं के तहत मामला दर्ज किया है. शिकायत दर्ज होने के बाद 24 घंटे गश्ती करनेवाले दल को तुरंत गांव भेजा गया, लेकिन अभी तक कोई गिरफ्तारी नहीं हुई है. गांव में तनाव है. वडोदरा ग्रामीण के पुलिस उपाधीक्षक रविंद्र पटेल ने कहा कि हम इस मामले में गांववालों और प्रत्यक्षदर्शियों के बयान दर्ज कर रहे हैं. हमने अभी तक एफआइआर में दर्ज लोगों में से किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है.

डीएसपी ने कहा कि पुलिस मामले की सत्यता का पता लगा रही है. पुलिस यह भी देख रही है कि कि गांव में दलितों की शादी समारोह के लिए मंदिर में व्यवस्था नहीं किये जाने की बात सही है या नहीं. अभी तक किसी ने इसके बारे में बात नहीं की है.

इसे भी पढ़ें – राजधानी के कोचिंग सेंटरों में नहीं है आग से निपटने की तैयारी, कांप्लेक्स के अग्निशमन यंत्रों के भरोसे चल रहे कोचिंग सेंटर

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
क्या आपको लगता है हम स्वतंत्र और निष्पक्ष पत्रकारिता कर रहे हैं. अगर हां, तो इसे बचाने के लिए हमें आर्थिक मदद करें.
आप अखबारों को हर दिन 5 रूपये देते हैं. टीवी न्यूज के पैसे देते हैं. हमें हर दिन 1 रूपये और महीने में 30 रूपये देकर हमारी मदद करें.
मदद करने के लिए यहां क्लिक करें.-

you're currently offline

%d bloggers like this: