JharkhandLead NewsRanchi

सुजीत सिन्हा व अमन साव गिरोह से जुड़े अपराधियों के ठिकानों पर ATS का छापा

Ranchi : झारखंड एटीएस की टीम ने राज्य में संगठित आपराधिक गिरोह से जुड़े अपराधियों के खिलाफ कार्रवाई शुरू कर दी है. गैंगस्टर अमन साव व सुजीत सिन्हा गिरोह से जुड़े अपराधियों के संपत्ति के बारे जानकारी एकत्र करने के लिए एटीएस की टीम ने राज्य के सात जिलों में अपराधियों के 16 ठिकाने पर छापेमारी की. छापेमारी रांची, पलामू, चतरा, हजारीबाग, रामगढ़, धनबाद और बोकारो में हुई. इनमें रामगढ़ में सैफ अली, अनूप प्रसाद, आनंद सोनकर उर्फ राहुल सोनकर, खुर्शीद अंसारी उर्फ  खुर्शीद आलम, राहुल दुबे, हजारीबाग जिले में शाहरुख अंसारी पंकज करमाली, रांची जिले में अमन साहू उर्फ़ अमन साव, आकाश राय उर्फ मोनू समीर बागची उर्फ कल्लू बंगाली, बोकारो जिले में दुर्गा महतो , चतरा जिले में आशीष साहू और धनबाद जिले में अभिजीत सिंह उर्फ सेंटी सिंह तथा सुनील पासी और अमन साव गिरोह के शूटर हरि तिवारी के पलामू के बारालोटा स्थित घर में छापेमारी की. हालांकि हरि तिवारी वर्तमान में जेल में है. छापेमारी के दौरान टीम के हाथ घर से बैंक से संबंधित दस्तावेज और जमीन के पेपर लगे हैं.

इसे भी पढ़ें : ट्रेड अप्रेंटिस परीक्षा : कोरोना की आड़ में कदाचार का आरोप, क्या टाटा कंपनी और प्रशासन न्याय करेंगे?

एटीएस की दूसरी टीम ने मंगलवार की शाम अमन साव गिरोह से जुड़े रातू थाना क्षेत्र के कमड़े चाणक्यपुरी निवासी समीर उर्फ कल्लू बंगाली उर्फ समीर बागची के घर छापेमारी की. एटीएस की टीम उसके आलीशान मकान को देख दंग रह गयी. टीम ने उसके घर से भी जमीन और बैंक से संबंधित दस्तावेज जांच के लिए जब्त किया है. इसी तरह अमन साव गिरोह के जुड़े चतरा के सिमरिया थाना क्षेत्र के बेलगड्डा निवासी आशिष साव के घर में छापेमारी हुई. जबकि हजारीबाग में केरेडारी निवासी शाहरूख अंसारी के अलावा पंकज करमाली और जुगेश्वर महतो के घरों में छापेमारी हुई. रामगढ़ में राहुल दूबे के ठिकाने और घर में छापेमारी हुई.

इसे भी पढ़ें : जमशेदपुर में संविदा पर बहाल एमओ अनिल कुमार हटाये गये, पत्नी ने सीएम से किया था अनुरोध

बोकारो ओर धनबाद में अमन साव गिरोह से जुड़े अपराधियों के ठिकाने और घर में छापेमारी हुई. पुलिस अधिकारियों के अनुसार अधिकांश स्थानों पर छापेमारी के दौरान बैंक से जुड़े दस्तावेज और संपत्ति से जुड़े पेपर जांच के लिए जब्त किये गये हैं. जांच के दौरान यह पता लगाने का प्रयास किया जायेगा कि अपराधियों ने संपत्ति आपराधिक घटना को अंजाम देकर या लेवी वसूल कर गलत तरीके से अर्जित तो नहीं की है. जांच में संपत्ति अवैध तरीके से अर्जित करने की बात सामने आने पर मामले में आगे की कार्रवाई की जायेगी. पुलिस अधिकारियों के अनुसार अमन साव गिरोह से जुड़े कुछ पुराने केस में कार्रवाई के लिए एटीएस को जिम्मेवारी दी गयी है.

इसे भी पढ़ें : जिले में बिजली चोरी के खिलाफ चला सघन अभियान, दर्जनों लोगों पर हुआ FIR

पुलिस मुख्यालय के अनुसार स्थानों पर छापेमारी से पुलिस को विभिन्न प्रकार के संदिग्ध दस्तावेज और सामग्रियों की प्राप्ति हुई है. छापेमारी के दौरान एटीएस टीम को  जमीन की खरीद-फरोख्त से संबंधित एकरारनामा , निबंधन ,विक्रय पत्र, बैंक खातों से संबंधित दस्तावेज, समीर कुमार बागची उर्फ कल्लू बंगाली के द्वारा संदिग्ध दस्तावेजों के आधार पर प्राप्त किया गया पासपोर्ट, कुल्लू बंगाली के द्वारा संदिग्ध दस्तावेजों के आधार पर नागालैंड से गलत ढंग से प्राप्त किए गए हथियार का लाइसेंस, पिस्टल ,155 जिंदा राउंड गोली, समीर कुमार बागची की पत्नी आरती बागची के पास से 116 जिंदा गोली, ज्वेलरी खरीद से संबंधित दस्तावेज, अपराध कर्मियों के संदिग्ध मोबाइल फोन समेत कई अन्य सामान बरामद हुए हैं जिसकी जांच की जा रही है.

Advt

Related Articles

Back to top button